ICSE Full Form ICSE Board क्या है? जानिये हिंदी में…

icse full form hindi

ICSE Full Form: दोस्तों, आज के समय मे बच्चों को पढ़ाने के लिए माता पिता की कई चीजों का ध्यान रखना पड़ता है। बच्चे किस School में जाए या फिर उनकी शिक्षा किस Board के अंतर्गत कराई जाए वगैरह-वगैरह अभिभावकों को इस तरह के विचार आने भी लाज़मी है क्योंकि School या विद्यालय बच्चों कि शिक्षा में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। School ही तो बच्चों के भविष्य की पहली सीढ़ी होती है, जो आगे चलकर उनके अच्छे व्यक्तित्व का निर्माण करती है, और उसके साथ ही एक अच्छे राष्ट्र का भी। आज के समय में हमारे सामने बहुत से Education Boards मौजूद है और उन्हीं में से एक है ICSE Board , जी हां दोस्तों आज हम आपको ICSE Board से संबंधित जानकारी देने वाले है। ICSE Full Form क्या है, इसकी स्थापना कब हुई और इसकी शिक्षा प्रणाली, इसके बारे में बताएंगे… तो चलिए शुरू करते है।

ICSE Full Form

ICSE Full Form “Indian Certificate Of Secondary Education” होता है। और हिंदी में इसे “माध्यमिक शिक्षा के भारतीय प्रमाण पत्र” कहा जाता है। यह एक महत्वपूर्ण Board होता है।

ICSE Board क्या है।

ICSE एक ऐसा Board है, जिसमें आयोजित की जाने वाली परीक्षा CISCE यानि कि The Council For The Indian School Certificate Examinations के द्वारा कराई जाती है। CISCE भारत का एक Private, Non- Government Education Board माना जाता है। इस Board को मुख्य रूप से 1956 में Anglo-Indian Education हेतु हुई एक अन्तर्राज्यीय बैठक में संगठित किया गया था। इसका Headquarter नयी दिल्ली में स्थित है। ICSE परीक्षा का Mode English है। यह Board इसलिए तैयार हुआ था क्योंकि उन दिनों सारी स्कूल ICSE सम्बद्ध हो रही थी। वर्तमान समय में इस ICSE Board के माद्यम से लाखों करोड़ो बच्चे शिक्षा प्राप्त कर रहे है। ICSE Board में वही बच्चे परीक्षा दे सकते हैं जो ICSE Schools से सम्बद्ध रखते है। जो भी Private बच्चे जो दूसरे Board में पढ़ते हैं वे यह परीक्षा नहीं दे सकते।

icse full form

ICSE Board की स्थापना

दोस्तों ICSE Board की स्थापना सन् 1956 ई. में हुई थी। इस Board के स्थापना का मुख्य उद्देश्य भारत में आंग्ल भारतीय शिक्षा की शुरुआत करना था। ICSE Board को हमारे भारत में नई शिक्षा नीति 1986 के सिफारिशों के अनुसार, सामान्य शिक्षा के लिए ही Design किया गया था। इसे भारत में Cambridge University Examination Pattern के अनूकूल बनाने के लिए गठित किया गया था।

ICSE Board के द्वारा संचालित कि जाने वाली परिक्षाएं:

1. ICSE – Indian Certificate Of Secondary Education- 10 वी कक्षा के लिए
2. CVE – Certificate Of Vocational Education- 12 वी कक्षा के लिए
3. ISC – Indian School Certificate- 12 वी कक्षा के लिए

ICSE Board के फायदे

1. ICSE Board एक बहुत ही महत्वपूर्ण बोर्ड होता है, जो कि प्रमुख रूप से बच्चे के पूर्ण विकास पर केंद्रित होता है और इसका Syllabus भी संतुलित होता है।
2. इसका Syllabus अधिक Comprehensive होता है और इसमें छात्रों में Practical Knowledge और Analytical Skills भी बढ़ जाती है।
3. ICSE Board में जरूरी विषयों पर विशेष ध्यान दिया जाता है।
4. इस Syllabus में छात्रों को उनके मन मुताबिक Specific Subjects को Select करने के लिए कहा जाता है।
5. ICSE Board में केवल English Medium का ही इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए जो छात्र English Medium के माध्यम से पढ़ाई करना चाहते है। उनके लिए यह बोर्ड बेहद अच्छा माना जाता है।
6. भारत और सिंगापुर , संयुक्त अरब अमीरात जैसे अन्य देशों भी में इसकी व्यापक Coverage लगभग 1000 से अधिक स्कूल भी हैं।
7. ICSE Board भाषा विषयों के रूप में भी 20 से भी अधिक भारतीय भाषाओं को और 12 विदेशी भाषाओं की सुविधा प्रदान करता है।

Subjects In ICSE Board

ICSE द्वारा प्रस्तुत Subjects को तीन अलग-अलग Groups में Divide किया जा सकता है।

Group 1: Compulsory Subjects – English, History, Civics, Geography, और Indian Languages

ऊपर दिए गए सभी Compulsory Subject है।, जिसमें English, History, Civics और Geography, इन सबके साथ Indian Language का समावेश है। याद रहे इन विषय को पढ़ना आवश्यक होता हैं और इनमें आपको कोई Option नहीं दिया जाता अगर हम बात करे Indian Language की तो इसका मतलब राज्य भाषा से है जो हर राज्य की अपनी अलग-अलग होती है।

Group 2 : इन Subjects में से किन्हीं दो Subjects का Selection कर सकते है। – Math, Science, Environment Science, Agriculture Science, Computer Science, Commerce अध्धयन, Economy तकनीकी Drawing, Economic, एक आधुनिक विदेशी भाषा, एक शास्त्रीय भाषा।

ऊपर दिए गए Subjects में से किन्हीं 2 Subjects को चुनना होता हैं। यहाँ पर आपकी जानकारी के लिए बताना चाहेंगे कि इसमें Mathematics, Science, Environmental Science, Agriculture Science, Computer Science जैसे विषयों का समावेश होता हैं।

Group 3 : इन Subjects में से किसी एक का Selection कर सकते है। – Computer अनुप्रयोग, आर्थिक अनुप्रयोग, वाणिज्यिक अनुप्रयोग, Home Science, Drawing, प्रदर्शन कला, कुकरी, Fashion Designing, Physical Education, Yoga, तकनीकी Drawing अनुप्रयोग

आखिरी में जो Subjects आते हैं उनमे इसे आपको एक को ही चुनना होता है। और वो होते हैं Computer अनुप्रयोग, Yoga , तकनीकी Drawing इन सब विषयों का समावेश होता है। ICSE Board का पाठ्यक्रम बहुत ही व्यापक और लम्बा है। यह Board बच्चो के सम्पूर्ण विकास के लिए बनाया गया है। जिन माता पिता को अपने बच्चो के लिए उज्जवल करियर चाहिए Management में वे उन्हें इस Board में पढ़ाते है। ICSE का परिणाम में English में प्राप्त किया गए अनिवार्य अंक हैं और बाकी 6 विषयों में से किन्हीं 5 के Marks का समावेश होता है। ICSE में ऐसे कई विषय हैं जिनमें 1, 2 या 3 पेपर भी होते है। ICSE बोर्ड अभी तक CBSE जितना लोकप्रिय नहीं हुआ हैं और बहुत ही कम स्कूल हैं जो इसका पालन करती है। आज के समय में बहुत से लोग इसके पाठ्यक्रम के कारण ही इससे प्रभावित हो रहे है। और अपने बच्चो को इससे Board में पढ़ा रहे हैं।

ICSE और CBSE में अंतर

ये बात सच है की ICSE बोर्ड CBSE के जितना अभी Popular तो नहीं हुआ है लेकिन जो भी ICSE के बारे में जानना चाहता है तो वो ICSE और CBSE में क्या अंतर है उसके बारे में जरूर ढूंढता है। निचे हमने कुछ अंतर दिए है जो CBSE और ICSE बोर्ड को अलग बनाते है।

  • CBSE बोर्ड में कक्षा 10वी का पाठ्यक्रम संक्षिप्त है जबकि ICSE में 10वी का पाठ्यक्रम व्यापक है।
  • भारत में होने वाले अधिकत्तर प्रतियोगी परीक्षा जैसे की NTSE, JEE Main, NEET, आदि CBSE पाठ्यक्रम का पालन करते हैं, इसलिए जो विद्यार्थी CBSE से पढता है उनको इन परीक्षाओं की तैयारी करना आसान होता है जबकि ICSE के विद्यार्थियों को IELTS और TOEFL जैसी परीक्षाओं की तैयारी करना आसान लगता है।
  • अगर हम बात करें की दोनों बोर्ड में से कौन सा बोर्ड कठिन है तो ICSE को CBSE से अधिक कठिन माना जाता है।
  • सीबीएसई Nine-Point grading System का अनुसरण करता है जबकि ICSE में, Result अंक / प्रतिशत के रूप में घोषित किया जाता है।
  • ICSE में पढाई केवल English Medium से होती है जबकि CBSE Board, English Medium और Hindi Medium दोनों का अनुसरण करता है।

दोस्तों आज की Post में हमने आपको जानकारी दी ICSE Full Form और उसके शिक्षा प्रणाली के बारे में , आपको हमारा ये पोस्ट कैसा लगा हमे जरुर बताएं।
साथ ही अगर आपके पास इस विषय से जुड़ी कोई सवाल या जिज्ञासा है तो आप वो भी हमें बता सकते हैं।

ये भी जरूर पढ़े:

NRC Full FormNCC Full FormWHO Full Form
NABARD Full FormDNA Full FormNEFT Full Form
RTGS Full FormRRB Full Form SSC Full Form