DNA Full Form..?? DNA क्या है जानिए हिंदी में..??

dna full form in hindi

दोस्तों क्या आपको पता है की DNA Full Form In Hindi क्या है? जैसा की हमें पता है, आज दुनिया ने बहुत तरक्की कर ली है‌। हम नित नए किर्तिमान हासिल कर रहे हैं। और इस किर्तिमान को हासिल करने में सबसे ज्यादा भूमिका विज्ञान ने निभाई है। इसलिए आज के आधुनिक युग को वैज्ञानिक युग भी कहा जाता है। समय के साथ-साथ विज्ञान ने भी बहुत अधिक उन्नति कर ली है। आज विज्ञान के पास हर समस्या का समाधान है। विज्ञान ही तो एक ऐसा विषय है जिसके द्वारा ही हर सफल परीक्षण करके अविष्कार का कार्य किया जा रहा है। आज के समय में इंसानों ने विज्ञान के द्वारा अंतरिक्ष से लेकर मानव स्वास्थ्य तक के कई क्षेत्रों में बड़ी-बड़ी उपलब्धियां प्राप्त की है। और इन्हीं में से एक बहुत ही महत्वपूर्ण खोज है DNA का। DNA प्रत्येक जीव में विधमान है और इसका आकर या संरचना एक घुमावदार सीढ़ी की तरह होता है, जिसकी सहायता से आज कई बड़ी से बड़ी गुत्थियों को सुलझा रहा है।

दोस्तों आप ने फिल्मों में देखा होगा की कैसे DNA के सैंपल से अपराधियों की पहचान की जाती है। इसलिए आप भी DNA के बारे में जानने के लिए इच्छुक होंगे की DNA Full Form In Hindi क्या है, कैसे काम करता है, DNA की मदद से आप कैसे किसी की पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते है। अगर आप विज्ञान के क्षेत्र से सम्बन्ध रखते है। तो हमारा आज का Post आपके लिए ही है।आज की इस Post में हम आपको DNA के बारे में बताने वाले हैं।

DNA Full Form In Hindi

DNA का फुल फॉर्म Deoxyribo Nucleic Acid होता है। , और हिंदी भाषा में इसे “डीऑक्सीराइबोज न्यूक्लिक अम्ल” के नाम से जाना जाता है।

D: Deoxyribo
N: Nucleic
A: Acid

DNA का इतिहास

DNA की खोज सन् 1953 ई. में James Watson और Francis Crick द्वारा की गई थी। और इन्हें इस खोज के लिए नोबेल पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया था। डीएनए का डबल हेलिक्स संरचना (Double Helix Structure)भी जेम्स वाटसन और फ्रांसिस क्रिक द्वारा दिया गया था। सबसे मज़े की बात तो यह है की डीएनए kabhi मरता नहीं है क्यूंकि एग एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में ट्रांसफर होता जाता है।

DNA क्या होता है।

दोस्तों जैसा कि हमने आपको बताया DNA की खोज विज्ञान की एक बहुत बड़ी उपलब्धि में से एक है। हम लोग अक्सर फिल्मों में वास्तविक जीवन में भी DNA TEST के बारे में सुनते हैं। वो इसी DNA से संबंधित होता है। मां के पेट में पल रहे भ्रूण को उसके माता-पिता के गुण सूत्रों के द्वारा 23 जोड़े प्राप्त होते है। इन्ही 23 जोड़े के परमाणु न्यूक्लीयर गुणसूत्रों को DNA के रुप में जाना जाता है। यह एक तंतुनुमा अणु होते है, जो कि जिंदा कोशिकाओं के गुणसूत्र में पाया जाता है। DNA का सम्बंध जीवित कोशिकाओं से होता है। अगर इसकी आकृति के बारे में तो इसकी आकृति बिल्कुल लहरदार सीढ़ी की तरह होती है। , इसे 3D संरचना के द्वारा बिल्कुल स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है। इसका निर्माण दो फिलामेंट के द्वारा किया जाता है। और यह दोनों ही फिलामेंट चारों ओर से घुमावदार संरचना का निर्माण करते है , इसी संरचना को ही DNA के नाम से जाना जाता है।

dna full form in hindi
DNA Structure

DNA के कार्य

1. दोस्तों ये तो हम सभी जानते है कि DNA एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में स्थानांतरित होता रहता है। और इसके द्वारा पीढ़ी में होने वाले परिवर्तन के विषय में जानकारी प्राप्त की जा सकती है।
2. DNA के द्वारा कोशिकाओं में सूचनाओं को एक लंबे समय तक सुरक्षित रखा जा सकता है। वैज्ञानिक द्वारा इन्ही सूचनाओं का प्रयोग कई तरह के रहस्यों का पता करने में किया जाता है। जिससे हमारे वंशज से संबंधित जानकारीयां भी प्राप्त हो जाती है।
3. DNA में अनुवांशिक सूचनाओं का एक संग्रह समूह होता है , जिसे “जीन” कहा जाता है। जिसके द्वारा ही हमे अनुवांशिक सूचनाओं के विषय में जानकारी प्राप्त होती है। और इसके माध्यम से ही आनुवंशिक गुणों को एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में स्थानांतरित किया जाता है।
4. DNA जीवित जीव की सभी अनुवांशिक विशेषताओं को Encode करता है। अधिकांश पौधों और जानवरों में भी DNA राइबो न्यूक्लिक एसिड और Protein के साथ संकुचित संरचनाओं के रूप में पाया जाता है। , जिसे कोशिका नाभिक में रहने वाले गुणसूत्र कहा जाता है।

जरूर पढ़े: Artificial Intelligence (AI) क्या होता है ?

DNA के प्रकार

दोस्तों अभी तक आपने पढ़ा “DNA क्या होता है।” और उसके इतिहास के बारे में अब हम आपको बताते है कि DNA मुख्यतः तीन प्रकार के पाए जाते है , जो कि इस प्रकार है। –
1. A – DNA
2. B – DNA
3. Z – DNA

1. A – DNA भी B- DNA के समान दायीं ओर ही कुंडलित होता है। निर्जलित DNA A प्रकार का होता है। , जो चरम स्थितियों के दौरान DNA की रक्षा करता है। और जो भी प्रोटीन बाइंडिंग होती है वह भी DNA से विलायक को हटाता है और A प्रकार का DNA बनाता है।

2. B – DNA – यह सबसे आम DNA का प्रकार है। यह दायीं ओर कुंडलित होता है। B प्रकार के अधिकांश DNA की बनावट सामान्य शारीरिक स्थितियों के अनुसार ही होती है|

3. Z – DNA – यह बायीं ओर का DNA होता है। , जहां पर जिग-ज़ैग पैटर्न में बायीं ओर द्विकुंडलित का घुमाव होता है। यह जीन के प्रारंभिक स्थल से आगे ही पाया जाता है और इसलिए माना जाता है कि यह जीन के नियमन में कुछ भूमिका निभाता है।

DNA के कुछ रोचक तथ्य

1. DNA Test करने के लिए गाल की कोशिकाएं , मूत्र का सैंपल तथा खून या बाल के सैंपल का भी इस्तेमाल किया जाता है।
2. हमारे शरीर में लगभग प्रत्येक दिन 1,000 से 10 लाख तक DNA नष्ट हो जाते है।
3. हम मनुष्यों के शरीर में जो DNA होता है वह केले, गोभी और चिम्पांजी के DNA की संरचना के समान ही होता है।
4. आपको जानकर हैरानी होगी की केवल एक चम्मच DNA में दुनिया की जितनी भी प्रजाति है उनकी जानकारी को रखा जा सकता है।
5. पुरे विश्व के Internet Data को सिर्फ 2 Gram DNA में Store किया जा सकता है।
6. हमारे शरीर में 20 हजार से 25 हजार तक जीन होते है।
7. मनुष्य की प्रत्येक कोशिका में DNA होता है। जब हमारी कोशिकाएं विभाजित होती है तब DNA डीएनए अपनी एक Copy बनाता है जिससे की दोनों तरह की कोशिकाओं में एक-एक DNA पहुँच सके।
8. यदि DNA को पूरी तरह से फैलाये तो 600 बार यह पृथ्वी से सूरज तक जाकर दोबारा आया जा सकता है।
9. सभी मनुष्यों का DNA 99.9 प्रतिशत सामान ही होता है।
10. सूर्य की UV किरणों से DNA नष्ट हो सकता है।

दोस्तों आज की Post में हमने आपको जानकारी दी DNA Full Form In Hindi और ये है क्या इसके बारे में, आपको हमारा ये पोस्ट कैसा लगा हमे जरुर बताएं।
साथ ही अगर आपके पास इस विषय से जुड़ी कोई सवाल या जिज्ञासा है तो आप वो भी हमें बता सकते हैं।