IBPS क्या है? IBPS के कार्य क्या है? जानिये हिंदी में IBPS Full Form

0
90
ibps full form in hindi

IBPS एक स्वतंत्र संगठन है जिसका काम होता है बैंकों के विभिन्न पदों के लिए भर्तियां व नियुक्तियां करना। कहा जाता है कि हर साल 10 लाख छात्र IBPS और क्लर्क के लिए आवेदन भरते हैं। अगर आप बैंक में नौकरी करना चाहते है तो आपको IBPS के बारे में जरूर जान लेना चाहिए। क्या आपको पता है की, IBPS Full Form In Hindi क्या है? IBPS क्या है? अगर नहीं तो हम आपको बता दे की इस सेक्टर में आपको रोजगार की भरमार मिलेगी तो आइए जानते हैं IBPS से जुड़ी सभी बातें हिंदी में-

IBPS Full Form In Hindi

IBPS का English Full Form “Institute of Banking Personnel Selection” है। वहीं IBPS Full Form In Hindi “बैंकिंग कार्मिक चयन संस्था” है। जैसे नाम से ही पता चल रहा है की IBPS एक ऐसी संस्था है जो बैंक के लिए कर्मचारियों को नियुक्त करने का कार्य करती है।

ibps full form in hindi
IBPS Full Form

IBPS क्या है? What is IBPS?

IBPS भारत के सार्वजनिक बैंकों में भर्ती और नियुक्ति करने वाला एक स्वायत्त भर्ती निकाय है। IBPS बैंक के कर्मचारियों की नियुक्ति में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। क्योंकि इन सभी बैंक कर्मचारियों की नियुक्ति के लिए परीक्षाओं का आयोजन IBPS ही करता है। यह संस्था 19 सर्वजनिक बैंकों के पदों के लिए परीक्षाएं आयोजित करता है। आइए जानते हैं IBPS के क्या-क्या कार्य है:-

IBPS के कार्य

  1. रिक्त पदों की जानकारी IBPS अपने अंतर्गत आने वाले समस्त बैंकों के रिक्त पदों के बारे में जानकारी हासिल करता है। इससे उसे यह पता चल जाता है कि इन रिक्त पदों की नियुक्ति के लिए उन्हें कितने लोगों की आवश्यकता है।
  2. विज्ञापन जारी करना: जब IBPS को रिक्त पदों के बारे में पता चल जाता है तो वे अपने website में रिक्त पदों को भरने के लिए विज्ञापन जारी करता है। इस विज्ञापन में आवेदन की निर्धारित तिथि, सभी पदों के बारे में जानकारी, शैक्षणिक योग्यता, परीक्षा, तथा पाठ्यक्रम से संबंधित जानकारियां भी होती है।
  3. परीक्षाओं का आयोजन करना: IBPS निर्धारित तिथि में प्री या प्रारंभिक परीक्षाओं का आयोजन करता है।
  4. परिणाम जारी करना: जब परीक्षाएं हो जाती है तब उसके बाद IBPS की यह जिम्मेदारी होती है कि वे निर्धारित तिथि में परीक्षाओं के परिणामों को जारी करें।
  5. मुख्य परीक्षा का आयोजन: IBPS की प्रारंभिक परीक्षाओं के आयोजन के बाद मुख्य परीक्षाओं को आयोजित किया जाता है। इस परीक्षा में वही उम्मीदवार भाग ले सकते हैं जिन्होंने प्री परीक्षा उत्तीर्ण की हो।
  6. साक्षात्कार का आयोजन: जो अभ्यर्थी मुख्य परीक्षा में सफल हो जाते हैं, उन्हें साक्षात्कार देना होता है। यह साक्षात्कार गठित समिति द्वारा लिया जाता है।
  7. नियुक्ति पत्र जारी करना: जो अभ्यर्थी साक्षात्कार में सफल होते हैं। उन्हें IBPS नियुक्ति पत्र जारी करता है। इस पत्र को हासिल करने के बाद अभ्यर्थी अपना पद ग्रहण कर पाते हैं।

IBPS का इतिहास

1975 में IBPS एक पर्सनल सिलेक्शन कार्मिक चयन सेवा (PSS) के रूप में शुरू किया गया था। 1984 में भारतीय रिजर्व बैंक और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की अनुमति पर यह एक स्वतंत्र निकाय के रूप में कायम हुआ। 2011 में इसमें उम्मीदवारों की भर्ती के लिए लिखित परीक्षाओं का आयोजन करना शुरू किया।

IBPS बैंक की List

  • Indian Bank
  • Indian Overseas Bank
  • Oriental Bank Of Commerce
  • Punjab And Sind Bank
  • Punjab National Bank
  • Syndicate Bank
  • Union Bank Of India
  • UCO Bank
  • United Bank Of India
  • Vijay Bank
  • Canara Bank
  • Baroda Bank
  • Bank Of India
  • Andhra Bank
  • Allahabad Bank
  • Central Bank Of India
  • Maharashtra Canara Bank
  • Corporation Bank
  • Dena Bank

इस लिस्ट में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का नाम इसलिए नहीं है क्योंकि स्टेट बैंक ऑफ (SBI) के द्वारा अलग परीक्षाओं का आयोजन किया जाता है।

IBPS के द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षाएं

IBPS, बैंकिंग कार्मिक चयन संस्था (IBPS Full Form In Hindi) प्रत्येक वर्ष चार परीक्षाओं का आयोजन करता है। इन परीक्षाओं की समय अवधि 3 से 4 महीने की होती है। आइए जानते हैं IBPS द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षाओं को:-

  • IBPS SO: इस परीक्षा के जरिए Specialist Officer की भर्ती की जाती है।
  • IBPS PO: इसके लिए तो परीक्षाओं का आयोजन किया जाता है एक है Preliminary और दूसरा Mains इन दोनों परीक्षाओं में उत्तीर्ण उम्मीदवारों का इंटरव्यू लिया जाता है और इसके बाद उनको Probationary Officer के रूप में Assistant Manager के पद पर नियुक्त किया जाता है।
  • IBPS Clerk: इसमें क्लर्क की नियुक्ति की जाती है। इसके लिए भी दो परीक्षाओं Preliminary और Mains आयोजन होता है।
  • IBPS RRB: इस परीक्षा के माध्यम से Group A और Group B के कर्मियों की नियुक्ति की जाती है।

IBPS पात्रता मानदंड | IBPS Eligibility Criteria

बैंकिंग कार्मिक चयन संस्था (IBPS Full Form In Hindi) अलग-अलग तरह की परीक्षाएं आयोजित करता है जिनके पात्रता भिन्न-भिन्न होती है आइए जानते हैं IBPS की परीक्षाओं के लिए Eligibility Criteria क्या है:-

  • Age Limit:- IBPS क्लर्क की Minimum आयु 20 वर्ष होती है। वही IBPS PO की Minimum आयु 28 वर्ष होती है।
  • Educational Qualification:- IBPS उम्मीदवारों के पास भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से Graduation की डिग्री होनी जरूरी है।
  • इसके साथ ही उम्मीदवार को राज्य की अधिकारी भाषा में पढ़ना, लिखना या बोलना आना ज़रूरी है।
  • Computer Literacy:- ऐसे साथी उनके पास कंप्लीट करें कि कोई डिग्री डिप्लोमा या फिर सर्टिफिकेट होना जरूरी है जिससे उनकी कंप्यूटर लिटरेसी का पता चलता है।

IBPS के चयनित पद

  • क्लर्क
  • पीओ
  • स्पेशल ऑफिसर
  • ग्रामीण बैंक क्लर्क
  • ग्रामीण बैंक पीओ
  • ग्रामीण बैंक ऑफिसर स्केल 1
  • ग्रामीण बैंक ऑफिसर स्केल 2

IBPS परीक्षा पैटर्न (PO)

IBPS परीक्षा Online Mode में आयोजित की जाती है। इस परीक्षा को तीन चरणों में बांटा करवाया जाता है। जिनमें शामिल है प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार। जब आप प्रारंभिक परीक्षा को पास कर लेते हैं तब आप मुख्य परीक्षा के लिए उपयुक्त हो जाते हैं और मुख्य परीक्षा CLEAR करने के बाद आपका साक्षात्कार लिया जाता है। आइए जानते हैं IBPS का Exam Pattern क्या है?

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)

IBPS, बैंकिंग कार्मिक चयन संस्था (IBPS Full Form In Hindi) की प्रारंभिक परीक्षा को तीन सेक्शन में बांटा जाता है। इसमें मुख्यत: Objective Type प्रश्न पूछे जाते हैं तथा इस परीक्षा को Online ही आयोजित किया जाता है एवं इस परीक्षा को करने की समयावधि सिर्फ एक घंटा होती है। आइए जानते हैं इस परीक्षा में किस सेक्शन से कितने प्रश्न पूछे जाते हैं:-

  • इंग्लिश -30 प्रश्न
  • क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड: 35 प्रश्न
  • रिजनिंग 35 प्रश्न

मुख्य परीक्षा (Mains Exam)

प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण होने के बाद उम्मीदवार एलिजिबल हो जाते हैं। मुख्य परीक्षा चार हिस्सों में विभाजित किया गया है। इसमें 190 प्रश्न होते हैं तथा इन सभी प्रश्नों को हल करने के लिए 160 मिनट का समय दिया जाता है।

मुख्य परीक्षा को चार भागों में बांटा गया है जो उम्मीदवार प्रारंभिक परीक्षाओं को पास कर लेते हैं वहीं मुख्य परीक्षा के लिए Eligible हो जाते हैं। मुख्य परीक्षा में उम्मीदवारों को 3 घंटे 30 मिनट का समय दिया जाता है तथा हर गलत जवाब के लिए 0.25 Negative Marketing होती।

साक्षात्कार (Interview)

दोनों परीक्षाओं को पास करने के बाद जिन उम्मीदवारों का Selection होता है उन्हें इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। जब इंटरव्यू क्लियर हो जाता है तब भी उम्मीदवार इन पदों पर आसीन होते हैं।

RRB द्वारा आयोजित प्रमुख Exams…?

IBPS क्लर्क परीक्षा Pattern

IBPS क्लर्क की परीक्षा भी ऑनलाइन है की जाती है। आइए जानते हैं यह कितने प्रकार के होते हैं:

प्रारंभिक परीक्षा IBPS अन्य IBPS परीक्षाओं की क्लर्क में भी तीन सेक्शन होते हैं। इस परीक्षा में वस्तुनिष्ठ प्रश्न को पूछा जाता है। इसका कुल सिप 100 प्रश्नों को पूछा जाता है परेशान करने के लिए 1 घंटे का समय दिया जाता है।

मुख्य परीक्षा

मुख्य परीक्षा में 4 सेक्शन होते हैं जिसमें 190 प्रश्न होते हैं और इन्हें हल करने के लिए 160 मिनट का समय दिया जाता है।

SSC द्वारा आयोजित किये जाने वाले Exams

इस लेख में हमने जाना IBPS Full Form In Hindi क्या है? IBPS क्या है? तथा IBPS कौन – कौन से Exams आयोजित करता है? IBPS के अंतर्गत आने वाले बैंक कौन से हैं आदि। यदि आपको ऊपर लिखे गए Article में कोई भी बात समझ ना आ रहा हो तो अपने सवाल कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं। अगर आपको यह लेख पसंद आया हो या फिर लगा हो की इसमें भरपूर जानकारी है तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।