SP क्या है? SP कैसे बने? जानिये हिंदी में

0
119
sp full form in hindi

क्या आपको पता है की SP क्या है? और SP Full Form In Hindi क्या है? देश की सेवा करने के लिए पुलिस विभाग का हिस्सा होना किसी के लिए भी सम्मान की बात है। जो लोग इस पद पर कार्यरत होते हैं, वे खुद को भाग्यशाली मानते हैं। ऐसे में कई Students हैं जो चाहते हैं कि वह पुलिस में भर्ती होकर इज्जत के साथ अपनी जिंदगी व्यतीत करें।

लेकिन उनके मन में इस संबंध में कई तरह के सवाल होते हैं। जिन सवालों के उत्तर उन्हें नहीं मिल पाते और वे करियर के इस मुकाम तक नहीं पहुंच पाते। इसीलिए जो लोग SP बनने की इच्छुक हैं उनके लिए आज हम यह पोस्ट लेकर आए हैं। इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे SP Full Form In Hindi, SP क्या है? तथा SP बनने की क्या प्रक्रिया है? तो आइए जानते है:-

SP Full Form In Hindi

SP का Full Form “Superintendent Of Police” होता है। वहीं SP Full Form In Hindi “पुलिस अधीक्षक” है।

SP क्या है?

SP पुलिस विभाग के किसी एक जिले के पुलिस फोर्स का मुखिया होता है। जिन जिलों में पुलिस अधीक्षक को नियुक्त किया जाता है, वह उन जिलों की कानून व्यवस्था को बनाए रखते हैं। यदि उस जिले में किसी भी तरह की आपराधिक घटना घटित होती है तो उसका जवाबदेह SP होता है। इसके साथ ही जिस जिले में SP की नियुक्ति की जाती है, वे उस जिले के साथ ही किसी ग्रामीण क्षेत्र का भी प्रमुख होता है।

जिन जिलों की जनसंख्या और क्षेत्रफल कम होती है। वहां पर SP उस जिले के साथ अन्य जिलों का भी प्रबंधन देखता है। इसके साथ ही सुपरिटेंडेंट की वर्दी में 2 सितारे लगे होते हैं।

SP की जिम्मेदारियां

SP जिस जिले का प्रमुख होता है वह उस जिले में होने वाली सभी प्रकार की गतिविधियों का जिम्मेदार होता है इसीलिए उसे अपने जिले में शांति व्यवस्था बनाए रखने के साथ ही कई तरह की जिम्मेदारियों का पालन करना पड़ता है। आइए जानते हैं कि Superintendent Of Police की क्या-क्या जिम्मेदारियां होती हैं:-

  • जिस जिले में पुलिस अधीक्षक की नियुक्ति होती है, वह उस जिले के कानून व्यवस्था को बनाए रखता है।
  • थाने में दर्ज होने वाले केसों की निगरानी करना।
  • पुलिस अधीक्षक जिले में होने वाली आपराधिक घटनाओं के लिए जवाबदेह होता है।
  • यदि पब्लिक किसी भी तरह के प्रदर्शन या सभा का आयोजन करना चाहती है तो इसकी अनुमति भी SP ही देता है।
  • प्रदर्शन के आयोजन की अनुमति देने के साथ ही विभिन्न समारोह, रैली और मीटिंग में SP देखरेख करता है तथा नियमों के उल्लंघन पर उचित कार्यवाही करता है।
  • उस जिले में आने वाले किसी भी मंत्री या फिर VIP व्यक्ति की सुरक्षा का इंतजाम करना।
  • जिले के पुलिसकर्मियों का एक स्थान से दूसरे स्थान पर स्थानांतरण करना।
  • सभी पुलिसकर्मियों के कार्य प्रदर्शन का ब्यौरा रखने के साथ ही उनकी छुट्टियां निर्धारित करना।
  • जिले में आपराधिक गतिविधि करने वाले लोगों को कड़ी से कड़ी सजा देना।
  • SP की जिम्मेदारी होती है कि वह यातायात व्यवस्था पर काबू रखें और लोगों को यातायात के नियमों का पालन करने के लिए जागरूक करें।
  • पुलिस सुपरिटेंडेंट की जिम्मेदारी होती है कि वे सभी सरकारी वाहनों का ऑडिट करवाए। साथ ही उनके रखरखाव की भी जांच करता रहे।

SP कैसे बने?

बहुत सारे लोगों का सपना होता है कि वे भविष्य में SP बने। लेकिन उन्हें यह पता नहीं होता कि आखिर इसकी प्रक्रिया क्या होती है? हम आपको बताएंगे की SP कैसे बनना है। SP बनने के दो रास्ते होते है:-

  1. पहला रास्ता है कि आप UPSC (IPS) का Exam पास करके किसी भी पुलिस विभाग में कोई पद हासिल करें तथा 5 से 6 सालों में प्रमोशन के बाद SP का पद हासिल करें। इस Exam में भी दो तरह के टेस्ट किए जाते हैं:-
  2. पहला होता है “Preliminary Test” जिसमें Objective Types Questions आते हैं। इस Test में 2 Question Paper मिलते हैं और प्रत्येक Question Paper में 200 Questions होते हैं। प्रत्येक Question के लिए 2 घंटे दिए जाते हैं। यह पेपर 400 अंक का होता है।
  3. जो कैंडिडेट “Preliminary Test” को Qualify कर जाते हैं उन्हें Mains Test देना पड़ता है। इस पेपर में Descriptive Type Questions आते हैं।
  4. जब आप इस टेस्ट को क्लियर कर लेते हैं तब आपको Personal Interview के लिए बुलाया जाता है। इंटरव्यू में पूछे जाने वाले प्रश्नों में सामाजिक सोच, विभिन्न विषयों में रूचि, कठिन परिस्थिति में निर्णय लेने की क्षमता, लॉजिकल, जजमेंट देने की क्षमता, नेतृत्व की क्षमता जैसे अलग-अलग विषयों से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं। इंटरव्यू 275 अंक का होता है। अंत में जो इंटरव्यू को भी Clear कर लेते हैं उनका चयन SP के बतौर हो जाता है।
  5. इसका दूसरा रास्ता है विभिन्न राज्यों के PCS के जरिए संचालित किए जाने वाली परीक्षाओं को देकर SDM का पद हासिल करना और वहां से Promote होकर SP के पद पर पहुंचना। लेकिन SDM से SP के पद तक पहुंचने के लिए आपको 10 से 12 साल का समय लग सकता है।

शैक्षणिक योग्यता (Educational Qualification)

  • SP बनने के लिए आपके पास 10वीं और 12वीं बोर्ड का सर्टिफिकेट होना अनिवार्य है।
  • SP बनने के लिए आपको किसी भी मान्यता प्राप्त संस्था से graduation की डिग्री हासिल होनी चाहिए। यदि आपने Graduation साइंस, आर्ट्स या कॉमर्स किसी भी Stream में पूरी की है तब भी आप इस पोस्ट के लिए उपयुक्त है।

SP की आयु सीमा

SP की आयु सीमा Category के हिसाब से अलग-अलग होती है।

  • General : 21-30
  • OBC :21-33
  • SC/ST : 21-35

SP की शारीरिक योग्यता

SP के लिए कुछ शारीरिक योग्यता भी निर्धारित की गई है जो कि निम्नलिखित है:-

पुरूष:

  • Height -165 cm
  • Chest – 84cm

महिला:

Height -150cm

SP के Skills

सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस बनने के लिए Candidate में निम्नलिखित Skills होने चाहिए:-

  • SP के लिए Apply करने वाले Candiate को चुस्त होना चाहिए। इसके साथ ही उन्हें अपराधियों से लड़ने के लिए Self Defense आना चाहिए।
  • SP में देश सेवा की भावना होनी चाहिए।
  • सुप्रिडेंट को स्वस्थ होना चाहिए। साथ में उनकी आंखों की रोशनी भी अच्छी होनी चाहिए।

SP का वेतन

SP की Salary आम पुलिस ऑफिसर की तरह ही 70,000 से 1,00000 तक हो सकती है। इसके साथ उन्हें आवास, गाड़ी, नौकर आदि सुविधाएं भी प्राप्त होती है।

ये भी जरूर पढ़े:

निष्कर्ष (Conclusions)

इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि SP क्या होता है? SP Full Form in Hindi क्या होता है? SP बनने के लिए क्या शैक्षणिक और शारीरिक योग्यता जरूरत होती है? जो स्टूडेंट पुलिस में भर्ती होना चाहते हैं तथा SP के पद पर कार्यरत होकर देश की सेवा करना चाहते हैं उनके लिए पोस्ट काफी मददगार साबित होगी। हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए फायदेमंद साबित होगी। यदि यह पोस्ट आपको फायदेमंद लगी है तो इसे सोशल मीडिया के अन्य प्लेटफॉर्म्स से शेयर जरूर करें।