SIM क्या है? SIM Full Form SIM की जानकारी हिंदी में

0
82
sim full form in hindi

SIM Card एक प्लास्टिक का टुकड़ा होता है जिसका आकार Memory Card के जैसा ही होता है। SIM का मुख्य कार्य आपके Mobile Phone को नेटवर्क से जोड़ना होता है। कई लोग SIM का इस्तेमाल तो करते है, लेकिन उन्हें SIM से संबंधित जानकारियां नहीं होती। इसलिए इस Article में हम आपको बताएंगे SIM Full Form In Hindi?, SIM क्या होता है? तथा SIM से संबंधित समस्त जानकारी। तो चलिए शुरू करते है:-

SIM Full Form In Hindi

SIM का English में Full Form “Subscriber identity Module” होता है। SIM Full Form In Hindi “ग्राहक पहचान मॉड्यूल” होता है।

S- Subscriber

I – Identity

M- Module

SIM क्या है?

हम सभी मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं तथा उसमें लगे SIM के बारे में भी हम अच्छे से जानते हैं। लेकिन फिर भी आपको जानकारी के लिए बता दें, मोबाइल फोन में लगे SIM का इस्तेमाल हम अन्य लोगों से बात करने, इंटरनेट के इस्तेमाल आदि के लिए करते हैं। SIM प्लास्टिक का होता है जिसमें एक चिप लगा होता है। इस “इंटीग्रेटेड चिप” के अंदर जो भी होता है, इसे मोबाइल पढ़ सकता है। हर SIM के इंटीग्रेटेड चिप (IC) में Phone Number, Unique Information और Data Store होता है जिसे मोबाइल पढ़ता है और उसी हिसाब से काम करता है।

sim full form in hindi
SIM Full Form

हमारे देश में कई Telecom Operator है जो ग्राहकों को SIM Provide करते हैं। इनमें Airtel, Idea, Jio, Vodafone प्रमुख है। SIM में Information के साथ ही Memory भी होती है जो Messages और Contacts को Save करता है। एक SIM 250 Contacts सेव कर सकता है।

बताया जाता है कि पहले SIM कार्ड, क्रेडिट कार्ड के आकार का था। लेकिन धीरे-धीरे इसके आकार में परिवर्तन आया।

SIM का आविष्कार कब हुआ और किसने किया?

SIM का आविष्कार साल 1991 में जर्मनी के 2 वैज्ञानिकों जिसेक और डेविएन्ट द्वाराकिया गया।

USSD का Full Form क्या है?

SIM के प्रकार

SIM दो अलग-अलग प्रकार के होते हैं। एक होता है GSM SIM और दूसरा CDMA SIM. आइए जानते हैं GSM व CDMA क्या होते हैं? तथा इन दोनों में क्या Difference है।

GSM: – GSM SIM वे SIM होते हैं जिनका इस्तेमाल आप दूसरे मोबाइल फोन में भी कर सकते हैं। मान लीजिए आप किसी SIM का उपयोग अपने मोबाइल में कर रहे हैं और आपका मोबाइल खराब हो जाए। तो आप उस SIM को दूसरे मोबाइल में इस्तेमाल कर सकते हैं, यही GSM SIM होते हैं।

CDMA:- आप GSM SIM का इस्तेमाल हर फोन में कर सकते हैं। वही CDMA SIM का इस्तेमाल सिर्फ एक ही फोन में किया जा सकता है। दरअसल, CDMA सिम आपको पहले ही फोन के साथ मिलता है और यह SIM भी उसी कंपनी का होता है जिस कंपनी का आपका मोबाइल होता है। उदाहरण: जैसे रिलायंस मोबाइल के साथ रिलायंस SIM का मिलना।

Prepaid SIM Vs Postpaid SIM

इसके अलावा SIM को 2 और categories में बांटा जाता है। एक है Prepaid सिवा दूसरा पोस्टपेड आइए जानते हैं क्या होते हैं।

  • Prepaid Sim – इसके नाम से ही पता चलता है Prepaid का मतलब होता है “पहले पैसा” यानी कि ऐसे SIM जिसमें आपको Calling, Messaging और Internet सेवाओं का इस्तेमाल करने के लिए पहले पैसे भरने पड़ते हैं। यानी कि पहले रिचार्ज करना पड़ता है।
  • Postpaid Sim- Postpaid यानी कि “पैसा बाद में” यह ऐसे SIM होते है जिसमें आपको Calling, Messaging और Internet सेवाओं के इस्तेमाल करने के लिए पहले पैसा नहीं भरना पड़ता। यानी कि आप इसके इस्तेमाल के बाद पैसा भर सकते हैं।

IEC क्या है? IEC की विस्तृत जानकारी हिंदी में!

निष्कर्ष (Conclusions)

दोस्तों इस लेख को पढ़ने के बाद आप समझ गए होंगे की SIM क्या है और यह क्यों जरूरी है? साथ में हमने जाना SIM Full Form In Hindi, SIM के प्रकार? SIM का आविष्कार कब हुआ? SIM का आविष्कार किसने किया? के बारे में। यदि आपको इस Article से संबंधित कोई और सवाल है तो हमें Comment Section में जरूर पूछें। अगर आपको यह लेख पसंद आया तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।