UGC NET क्या है? NET Full Form जानिये हिंदी में

0
164
net full form

अगर आप स्कूल या फिर कॉलेज के छात्र हैं, तो आपने अकसर UGC NET के बारे में तो जरूर सुना होगा और इसे सुनने के बाद आपके मन में सवाल भी आया होगा कि आखिर UGC NET Full Form होता क्या है? तो आपके इन सभी सवालों के जवाब के लिए आज हम यह Article लेकर आए है। इसमें हम आपको UGC NET के बारे में संपूर्ण जानकारी देंगे। जैसा कि आपको पता ही होगा UGC NET एक तरह की परीक्षा है। हालांकि यह एक राष्ट्रीय परीक्षा होती है जिसे वहीं छात्र दे सकते हैं जिन्होंने अपनी Post Graduation 55 फ़ीसदी अंको से पूरी कर ली है। UGC NET काफी महत्वपूर्ण परीक्षा होती है तो आइए जानते हैं NET Full Form In Hindi, UGC NET क्या होता है? तथा UGC NET के लिए आवेदन कैसे करें।

NET Full Form In Hindi क्या है?

NET का English Full Form “National Eligibility Test” होता है, वहीं NET Full Form In Hindi “राष्ट्रीय योग्यता परीक्षा” होता है। NET की Full Form से ही अंदाजा लगाया जा सकता है की यह एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है तो आइये जानते है NET परीक्षा के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकरियां।

UGC NET क्या होता है?

जैसा कि हमने बताया NET राष्ट्रीय योग्यता परीक्षा होती है। यह एक ऐसी परीक्षा है जो उन छात्रों के लिए है जिन्होंने अपनी Post Graduation पूरी कर ली है तथा आगे जाकर भविष्य में शिक्षण के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं। यह उन छात्रों के लिए भी ज़रूरी है जो आगे जाकर Ph.D. करना चाहते हैं। सवाल उठता है कि NET परीक्षा को आयोजित कौन करता है। दरअसल इस परीक्षा को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यानी कि UGC आयोजित करता है। यह परीक्षा वर्ष में दो बार आयोजित की जाती है। सबसे पहले साल 1889 में इस परीक्षा को आयोजित किया गया था। तब से लेकर अब तक यह साल में 2 बार आयोजित की जाती है।

UGC National Eligibility Test (NET Full Form) परीक्षा को देश की कठिन परीक्षाओं में से एक माना जाता है क्योंकि इस परीक्षा को पास करने के बाद आप पीएचडी तथा विश्वविद्यालय में अध्यापन करने की योग्यता भी हासिल कर लेते हैं। जानकारी के लिए आपको बता दें, 2009 में किसी भी कॉलेज का प्रोफेसर बनने के लिए पीएचडी करना जरूरी कर दिया गया था।

UGC NET परीक्षा का आयोजन कौन करता है?

सबसे महत्वपूर्ण सवाल है कि UGC NET परीक्षा को आयोजित किसके द्वारा किया जाता है? दरअसल शुरुआत में इस परीक्षा को UGC द्वारा आयोजित किया जाता था। हालांकि बाद में CBSE द्वारा 51 केंद्रों में 84 विषयों में NET परीक्षा का आयोजन किया गया। आगे जाकर साल 2018 के दिसंबर महीने में UGC NET की जिम्मेदारी को राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी यानी कि NTA को सौंप दिया गया।

UGC Net की पात्रता क्या होती है?

बहुत से छात्र NET करना चाहते हैं। हालांकि NET करने के लिए एक विशेष Eligibility Criteria होता है जिसे Follow करना जरूरी होता है। आइए जानते हैं इसके आवश्यक मानदंड क्या है।

  • जो अभ्यर्थी NET करना चाहते हैं उन्हें Post Graduation में 55 फीसदी अंको से पास होना जरूरी है।
  • जो अभ्यर्थी आरक्षित श्रेणी के होते हैं उनकी शैक्षणिक योग्यता में 5 फ़ीसदी की छूट होती है।
  • इसके साथ ही आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों की आयु मानदंड में भी 5 वर्ष की छूट होती है।
  • NET करने के लिए किसी भी कॉलेज लेक्चरर की कोई भी आयु सीमा नहीं होती। हालांकि जो छात्र जूनियर फैलोशिप में जाना चाहते हैं उनकी आयु सीमा 28 वर्ष है।
  • NET में ही अपने अंदर 94 विषयों को सम्मिलित किया है। इसका मतलब है कि अगर आपने इन 94 विषय में से किसी भी एक विषय में अपनी पोस्ट ग्रेजुएशन या मास्टर की डिग्री हासिल की है तभी आप NET कर सकते हैं।

NET का Exam Pattern क्या होता है?

यदि बात करें NET के Exam Pattern की तो हम आपको बता दें, इसमें तीन तरह की परीक्षाएं देनी होती है। वही यह तीनों तरह की परीक्षाएं विषय वस्तु के आधार पर अलग-अलग होती है। आइए जानते हैं विस्तार से:-

  • NET के लिए आयोजित किए जाने वाले पहले पेपर में 60 सवाल दिए जाते हैं जिनमें से उम्मीदवार को 50 सवालों के जवाब लिखने होते हैं। इस प्रथम पेपर में आपकी तर्क क्षमता, सामान्य जागरूकता, समाज से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।
  • NET की दूसरी परीक्षा में 50 सवाल दिए जाते हैं तथा इन सभी सवालों के जवाब देना जरूरी होता है। हर सवाल में आपको 2 अंक मिलते हैं। वही इस पेपर में उम्मीदवार के ऊपर है कि वह किस विषय का चयन करता है।
  • NET का अंतिम पेपर ढाई घंटे का लिया जाता है तथा इसमें आपको 50% सवालों के जवाब देने जरूरी होते हैं। यह सारे सवाल डेढ़ सौ अंकों के होते हैं।

NET के चयन की प्रक्रिया क्या है?

  1. सबसे पहले UGC NET के लिए आवेदन करने के लिए आपको इसके आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन पत्र भरना होगा। आवेदन के लिए Application Fee जनरल कैंडिडेट के लिए 1 हज़ार, OBC Candidate के लिए ₹500 तथा SC/ST, PWD और ट्रांसजेंडर उम्मीदवारों के लिए ₹250 है।
  2. इसके बाद छात्र जब अपना पंजीकरण पूरा कर लेते हैं तब वे अपनी आईडी से लॉगिन करके अपना Admit Card download कर सकते हैं।
  3. एक बार Admit Card मिल जाने के बाद उम्मीदवारों को परीक्षा में उपस्थित होना होता है। दरअसल, ये परीक्षाएं कंप्यूटर आधारित परीक्षा होती है जिसमें दो पेपर शामिल होते हैं। इन दोनों पेपर में वस्तुनिष्ट प्रश्न पूछे जाते हैं तथा उम्मीदवारों को इन प्रश्नों को सुलझाने के लिए 3 घंटे का समय दिया जाता है।
  4. इसका अंतिम चरण है परीक्षा के परिणाम का पता लगाना। इसके लिए छात्रों को अपने रोल नंबर के मुताबिक अपना परिणाम देखना होता है।
  5. अगर उम्मीदवार इस परीक्षा में सफल हो जाता है तो वह किसी भी विश्वविद्यालय महाविद्यालय में शिक्षक या फिर पीएचडी के लिए आवेदन भर सकता है।

NET पूरा करने के बाद आपकी Salary कितनी होगी

UGC NET में Salary इसके पदों के मुताबिक अलग-अलग हो सकती है। उदाहरण के लिए जूनियर सहायक प्रोफेसर की Salary सालाना 4.92 लाख के करीब होती है। वहीं सहायक प्रोफेसर की Salary प्रतिवर्ष 5.75 लाख होती है। जब आप अनुभव हासिल कर सहायक वरिष्ठ सहायक प्रोफेसर बन जाते हैं तब आप की सालाना Salary 6.80 लाख हो सकती है। सहायक प्रोफेसर की Salary सालाना 9.33 लाख होती है। वही प्रोफेसर की सालाना Salary 11.88 लाख होती है।

ये भी जरूर पढ़े:

निष्कर्ष (Conclusions)

इस आर्टिकल के जरिए हमने आपको NET Full Form? NET क्या होता है? से संबंधित जानकारी देने का पूरा प्रयास किया है। हमें उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई होगी। अगर यह जानकारी आपको उपयोगी लगी है, तो इसे अपने मित्रों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले। अगर आपके मन में कोई अन्य सवाल है तो हमें Comment Section में बताएं। हम आपको जवाब देने का हर संभव प्रयास करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here