Home Full Form Artificial Intelligence In Hindi AI क्या है।..??

Artificial Intelligence In Hindi AI क्या है।..??

artificial intelligence in hindi

दोस्तों हमारे Human Brain का ही ये कमाल है जो नित नए किर्तिमान हासिल कर आगे बढ़ रहा है। आज Technology ने हर घर में अपनी पैठ बना ली है ये भी सिर्फ इंसानों के बदौलत और Technology के इन्ही सब क्षेत्रों में से एक है AI यानि Artificial Intelligence कृत्रिम बुद्धिमत्ता ये भी Human Brain की ही देन है। चलिए हम आपको बताते है कि Artificial Intelligence In Hindi क्या है?

AI का Full Form

दोस्तों AI का Full Form Artificial Intelligence होता है और हिंदी में क्रत्रिम बुद्धिमत्ता भी कहते है। यह Computer Science की महत्वपूर्ण शाखाओं में से एक शाखा है।, जिसका कार्य ऐसी Machin को Develop करना है जो हम मनुष्यो की तरह सोच सके और हमारी तरह कार्य भी कर सके। जैसे : आवाज को पहचान , समस्या को सुलझाना , Learning और Planning करना आदि। यह इंसानों और जानवरों के द्वारा प्रदर्शित Natural Intelligence के विपरीत Machines द्वारा प्रदर्शित Intelligence है।

Artificial Intelligence In Hindi

दोस्तों Artificial Intelligence इसके द्वारा एक ऐसे Computer Controlled Robot या Software बनाने की योजना है। जो वैसे ही सोच सके जैसे हम इंसानों का दिमाग सोचता है। Artificial Intelligence को पुर्ण रुप से मानव दिमाग की तरह बनाने के लिए उसे लगातार तैयार किया जा रहा है। इसके प्रशिक्षण में इसे मशीनों के द्वारा अनुभव सिखाए जाते है। नए Input के साथ Balance बनाने और इंसानों जैसे कार्यो को करने के लिए तैयार किया जाता है। तो कुल मिलाकर हम यह मान सकते हैं कि Artificial Intelligence के उपयोग से ऐसी Machine बन रही है। जो अपने आस पास के वातावरण के साथ Interact करके प्राप्त Data पर खुद की बुद्धिमानी से कार्य कर सकते है। यानि कि अगर भविष्य में AI Concept और भी मजबूत होता है , तो यह हमारे मित्र जैसा होगा। अगर आपको कोई भी समस्या आती है तो उसके लिए क्या करना है यह आपको एक सलाहकार के रुप खुद ही सोच कर बताएगा। मूल रूप से Artificial Intelligence (AI) एक Machine या Computer Program की सोचने और सीखने की क्षमता है। यह अवधारणा इस विचार पर आधारित है, कि Machin को इतना आत्मनिर्भर बनाया जाए की वह खुद ही किसी समस्या के बारे में इंसानों की तरह सोचे व उसके समाधान पर स्वयं कार्य करे और उससे सीखे।

Artificial Intelligence का इतिहास

दोस्तों सन् 1950 ई. मे Artificial Intelligence Research की शुरुवात हुई थी। Electronic Computer और Stored Program Computer के विकास के साथ ही AI के क्षेत्र में Research का काम शुरू हुआ। इसके कई दशकों के बाद भी एक Computer किसी मानव दिमाग की तरह सोच या कार्य कर पाए इसकी कोई कड़ी नही जुड़ पायी। आगे चलकर Norbert Wiener द्वारा एक खोज जिसने AI के शुरुवाती विकास को बहुत हद तक बढ़ाया। इसके साथ ही उन्होंने यह भी सिद्ध किया कि हम मानव के सभी व्यवहार प्रतिक्रिया तन्त्र के परिणाम होते है। और लॉजिक थेओरिस्ट Modern AI की दिशा में एक बहुत बड़ा कदम था। 1955 में Newell और Simon द्वारा Design किया गया यह पहला AI Program भी माना जा सकता है।

Artificial Intelligence के प्रकार

दोस्तों अब हम आपको बताते है AI के प्रकार के बारे में हम सभी जानते हैं कि ये युग बहुत ही आधुनिक होने के साथ ही साथ ही Technology वाला भी है। ,
जिसमें Artificial Intelligence लगभग सभी Industries और कई क्षेत्रों में भी हावी होने लगी है। इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि Machin किसी भी कार्य को मानव की तुलना में अधिक प्रभावी ढंग से करते है। Hollywood Movies की तरह ही Robots का दबदबा हमारी दुनिया पर होगा। AI या जिसे हम Machine Learning भी कहते है|

1. पहला भाग

इसको दो प्रकार के मुख्य भागों में बांटा जाता है।

1. कमजोर बुद्धिमता
2. मजबूत बुद्धिमता

1. कमजोर बुद्धिमत्ता (Week AI)

कमजोर बुद्धिमत्ता जिसे Nero AI के नाम से भी जाना जाता है , यह पूरी तरह से Nero Task के कार्यो पर केंद्रित है। Weak AI किसी Strong AI या General Artificial Intelligence के विपरीत किसी विशेष समस्या को पूरा करने के लिये होती है। यह अपने काम को करने के लिए बहुत Smart नही होती है। परंतु उन्हें ऐसा बनाया जाता है कि वे Smart लगे। उदाहरण के लिये Ludo Game में जब आप Computer Mode में खेलते है , तो एक तरफ से Tokens खुद ब खुद बढ़ती जाती है। उसके ऐसा करने के लिए पहले से तैयार किया जाता है। सारे Rules व Moves पहले से ही Software में Feed कर दिए जाते है।

2. मजबूत बुद्धिमत्ता (Strong AI)

मजबूत बुद्धिमत्ता इसका प्रयोग AI Development के एक निश्चित Mindset का वर्णन करने के लिए किया जाता है। इस का मुख्य Target होता है उस बिंदु पर Artificial Intelligence Develop करना है, जहां Machin की बौद्धिक क्षमता कार्यात्मक रूप से हम इंसानो के बराबर हो। Strong AI ऐसी Machine बनाता है जो वास्तव में हम इंसान की तरह सोच और कार्य कर सकती है।

2. दूसरा भाग

1. Reactive Machines- यह बहुत ही Basic Machine होती है क्योंकि यह Memory को Store नही करती है और Future में किसी कार्य को करने के लिए अपने बिते हुए अनुभवों का उपयोग भी नही कर पाती है। यह बस देख कर उस पर React कर सकती है। IBM का Deep Blue जिसने शतरंज के Grand Master कास्परोव (Kasparov) को हराया इसका एक अच्छा उदाहरण है।

2. Self-Awareness- यह एक ऐसी Artificial Intelligence है , जिसके पास अपनी खुद की चेतना, Self Awareness और Super Intelligence होती है। अगर सरल शब्दों में कहा जाए तो आप इसे एक तरह का Human भी कह सकते है। अगर भविष्य में यह मुमकिन हो सका तो AI के लिए यह बड़ी उपलब्धि होगी।

3. Limited Memory- यह ऐसे AI System होते है, जो Future Decision को Inform करने के लिए पिछले अनुभवों का उपयोग भी कर सकते है। Self Driving Car में कुछ Decision Making Functions को Design किया गया है।

4. Theory of Mind- इस प्रकार की AI Machine को लोगो की भावना, उनके विश्वास, उनके विचार, उनकी उम्मीद और उनसे सामाजिक रूप से बातचीत करने में सक्षम बनाया जाता है। हालांकि इस क्षेत्र में भी काफी प्रयोग हुए है लेकिन अभी ऐसी कोई चीज निकलकर सामने नही आई जिससे यह सम्भव हो सके।

artificial intelligence in hindi
Types of Artificial Intelligence

Artificial Intelligence के लक्ष्य

दोस्तों AI पूरी दुनिया में सबसे शक्तिशाली और तेजी से बढ़ती टेक्नोलॉजी है। AI एक प्रकार की कृत्रिम चेतना Artificial Consciousness है जो हमारे निर्देश देने पर कार्य करती है। भले ही Artificial Intelligence मानव द्वारा विकसित की गई है, लेकिन AI मनुष्यों की तुलना में अधिक कुशल, बेहतर और बहुत ही कम खर्च में काम करती है। इसीलिए अब कई Business Industries के Field में AI को काम मे लिया जा रहा है। हम सभी बहुत से कामों के लिए अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में Artificial Intelligence का प्रयोग करते है। लेकिन वो दिन दूर नही जब हम पूरी तरह से इस Technology का उपयोग करने लगेंगे। यह एक अहम सत्य है कि पूरी दुनिया मे AI का बहुत उज्ज्वल भविष्य है। भविष्य में ज्यादातर काम और कई क्षेत्र AI के ऊपर ही निर्भर होंगे। लेकिन इसके साथ ही इसका एक पहलू मनुष्यों के जीवन पर बहुत बुरा प्रभाव भी डाल सकता है। तो चलिये दोस्तों अब हम आपको AI के कुछ लक्ष्यों को बताते है जिसे हासिल करके यह AI Technology जल्द ही हम तक पहुच जाएगी।

निर्णय लेने की शक्ति बढ़ाना: AI का सबसे पहला यही है , कि ऐसी Machine बनाई जाए जिसके सोचने समझने की क्षमता कि मनुष्यो की तरह हो। जो मनुष्यों की किसी भी समस्या को खुद से हल करने का Decision ले सके। इस दिशा में AI ने कुछ उपलब्धियां भी हासिल की है। अभी हाल में एक Female AI Robot (Sophia) को बनाया गया। इसके पास कुछ हद तक Decision Making Power है और यह आपके किसी भी सवाल का जवाब आसानी से दे सकती है। ऐसे ही कुछ AI Concept आपको Smart Device में भी देखने को मिलेंगे जैसे Google Home, Siri, Alexa इत्यादि।

कार्य में कुशलता: दोस्तों हम इंसान किसी भी कार्य को करने में काफी आलसी होते है, जिसके कारण हम अपने कामो को पूरा करने में बहुत ज्यादा समय लगाते है और उनमे गलतियां भी ज्यादा होती है। इंसानो की इसी आदत को देखते हुए AI Researches इस क्षेत्र में बहुत तेजी से काम कर रहे । इनका मूल मकसद AI को ऐसा बनाना है ताकि वो किसी भी कार्य को कम से कम गलती के साथ तेजी से कर पाये।

समय की बचत: ये तो सत्य है कि AI हम मनुष्यो की तुलना में काफी अधिक तेजी से काम कर सकता है। क्योंकि यह एक प्रकार की Machine है , इसलिए यह काम करने में कभी थकता नही और हमारी तरह काम के बीच में कभी Break भी नही लेता। इस विषय को देखते हुए कई ऐसी भी AI Machine बनाई जा रही है , जो जल्द ही मनुष्यों की जगह ले लेगी।

Artificial Intelligence के Application

दोस्तों AI बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि यह Entertainment, Health, Education, Financial, और भी विभिन्न उद्योगों के उपयोगिताओं में कठिन मुद्दों को हल करने में भी मदद कर सकता है। AI Application एप्लीकेशन को पांच Category में बांटा जा सकता है।

1. ज्ञान– दुनिया के बारे में सभी तरह की जानकारी को प्रस्तुत करने की क्षमता। जैसे Financial, Marketing, Future Prediction, धोखाधड़ी की रोकथाम, Medicine Production, Medical Treatment, Media इत्यादि।

2. विचार– बिना ज़्यादा वाद विवाद किए किसी भी समस्याओं का हल करने की क्षमता।

3. संचार– किसी भी बोले जाने वाली और लिखित की भाषा को समझने की क्षमता। जैसे बोले जाने वाली और लिखित भाषाओं का वास्तविक समय अनुवाद , वास्तविक समय प्रतिलेखन, बुद्धिमान सहायक , आवाज नियंत्रण इत्यादि।

4. योजना– लक्ष्य को निर्धारित करने और प्राप्त करने की क्षमता। जैसे भाग पूर्वानुमान, सूची प्रबंधन, भविष्य कहने वाला रखरखाव, भौतिक और Digital Network अनुकूलन, Navigation इत्यादि।

5. अनुभूति– Sounds, Images, Picture और अन्य संवेदी आदानों के माध्यम से दुनिया के बारे में हर चीजों का अनुमान लगाने की क्षमता। जैसे चिकित्सा निदान, स्वायत्त वाहन, निगरानी इत्यादि।

Artificial Intelligence के उदाहरण

हम सभी जानते हैं कि अभी हाल ही में कई Companies ने Machine Learning पर काफी Invest किया है। जिसके कारण ही कई AI Product और Apps हमारे लिए उपलब्ध हुए है। तो दोस्तो अब हम आपको आज के समय में इस्तेमाल होने वाले कुछ ऐसे AI Example देते है, जिससे आप और अच्छी तरह से समझ पाएंगे कि Artificial Intelligence किसे कहते है।

1. Siri

आप में से बहुत लोगों ने Siri के बारे में जरूर सुना होगा यह Apple के द्वारा प्रस्तुत किया गया सबसे लोकप्रिय आभासी सहायक यानि की सबसे लोकप्रिय Virtual Assistant है। फिलहाल यह सिर्फ iPhone और iPad में ही उपलब्ध है। यह AI का सबसे बेहतरीन उदाहरण में से एक है , इससे बस आप ‘Hey Siri’ बोलिए और यह आपके लिए Massage भेज सकता है, Internet पर कोई भी Information ढूंढ सकता है, आपके Contect List में से किसी को भी Call कर सकता है, कोई भी Application Open कर सकता है यहां तक कि Timer Set व Calander में Event भी Save करने जैसे कामों में आपकी सहायता कर सकता है। Siri आपकी भाषा और सवालो को समझने के लिए Machine Learning Technologies का प्रयोग करती है। यह सबसे अनुकूल Voice Activated Computer है। इससे संबंधित Device Alexa और Google Assistant भी है। जो समान कार्य के लिए ही प्रयोग किये जाते है।
मगर इनका प्रयोग Android User भी कर सकते है।..।।

2. Tesla

आपको जानकर हैरानी होगी कि अब न केवल Smartphones बल्कि Automobiles भी Artificial Intelligence की ओर बढ़ रहे है। अगर आप एक कार गीक है , तो आप Tesla के बारे में जरूर जानते होंगे। यह अब तक उपलब्ध सबसे बेहतरीन Automobiles में से एक है। Tesla कार में न केवल Self Driving बल्कि Manufacture Capacity और पूर्ण Technical, जैसे Innovative Feature जैसे उपलब्ध है। ऐसी ही न जाने कितनी Self Driving कारें और बन रही है जो आने वाले समय में और भी Smart और Amezing हो जाएगी।

3. Google Map

दोस्तों वैसे तो Google कई क्षेत्र में AI Artificial Intelligence का प्रयोग क्षकरता है। लेकिन Google Map में AI Technology का बहुत अच्छा इस्तेमाल हुआ है। हमको किसी देश या शहर कोई भी जगह का रास्ता बताने के लिए AI Mapping के साथ ही Giant’s Technology सड़क के जानकारी को Scan करती है और अल्गोरिथ्म्स का प्रयोग करके सही Root को हमे बताती है। अभी Google ने अपनी Voice Assistant में और भी सुधार करके और Real Time में Real Map बनाकर अपने Google Map में Artificial Intelligence को और आगे बढ़ाने की योजना बनाई है।

4. Nest

Nest सबसे प्रसिद्ध और Artificial Intelligence Startups में से एक था और कुछ समय बाद इसे 2014 में Google द्वारा खरीद लिया गया था। Nest Learning Thermostat आपके Behaviour और Routine के आधार पर Energy को बचाता है। ऐसा करने के लिए यह व्यवहार एल्गोरिदम का उपयोग करता है। यह इतनी Intelligent Machine है , कि सिर्फ एक हफ्ते में ही आपके लिए उपयोगी तापमान का पता लगा लेती है। अगर घर मे कोई न हो तो यह ऊर्जा बचाने के लिए Automatically Turn Off हो जाती है।

5. Echo

Echo को Amazon द्वारा Launch किया गया था। यह एक ऐसा Revolutionary Product रहा है, जो आपके सवालो के जवाब भी दे सकता है , आपके लिए Audio Books भी पढ़ सकता है , आपको Traffic और Weather के साथ साथ Sports Score का हाल भी बता सकता है, Local Business के बारे में हर तरह की Information दे सकता है। Echo में समय के साथ और भी बड़े और जरुरी बदलाव किए जा रहे है जिससे यह अपने साथ और भी नई सुविधाओं को जोड़ता जा रहा है। उम्मीद है , आने वाला समय Echo को और भी Smart Features वाला बना देगा।

Human Intelligence VS Artificial Intelligence –

Artificial Intelligence व Human Intelligence के बीच जो भी अतंर या मतभेद है उनको समझने के लिए पहले आपको ये जानना होगा कि ये Intelligence क्या है।..??

अगर सरल भाषा में कहा जाए तो इसका जवाब यह है कि हमारी बुद्धि या Intelligence में किसी Information को प्राप्त करने की क्षमता , अपने हर अनुभवों से सीखने की क्षमता , किसी भी चीज को देखकर समझने और उस पर ढंग से विचार करने की क्षमता होती है। अपने Neutral व्यवहार के कारण यह बुद्धि संज्ञानात्मक कार्यो जैसे अनुभूति , Memory , Language और Planning को एकत्रित करती है। तो चलिये अब हम आपको बताते है Artificial Intelligence और Human Intelligence के अंतरो के बारे में।

Human Intelligence- को दिमाग की गुणवत्ता के रूप में परिभाषित किया जाता है। इंसानों के मस्तिष्क के अंदर पिछले अनुभवों से अनुभव लेने , परिस्थिति के अनुकल सही गलत प्रतिक्रिया करने की ताकत , किसी भी विचारों से हल निकालने और प्राप्त जानकारी का उपयोग करके स्वयं को किसी भी परिस्थिति से बाहर निकालने की क्षमता होती है। Human Intelligence की ऊर्जा दक्षता लगभग 25 Watts होती है। हम इंसानों में सैकड़ो Skills को मैनेज करने व अपनी जिंदगी से सीखना आता है। हमारे अंदर अनुभवी परिदृश्य से फैसला लेने की क्षमता होती है। Human Brain Analog होता है।

Artificial Intelligence- AI का मुख्य काम उन मशीन को Design करना होता है , जो Human व्यवहार की नकल कर सके। Robot वैज्ञानिकों के द्वारा Design किये गए Instructions का उपयोग करते है। AI को Intelligent Agent एजेंट द्वारा Study और Design किया जाता है। AI Research कई क्षेत्रो के Tools और Incites का प्रयोग भी करता है। यह Robotics Central System जैसे कार्यो के लिए भी Overlap करता है। AI की ऊर्जा दक्षता एक Modern Machine या Learning Machine में 2 Watts होती है। प्रत्येक System को सिखाने के लिए बहुत समय लगता है।

दोस्तों आज की Post में हमने आपको जानकारी दी Artificial Intelligence In Hindi के बारे में, आपको हमारा ये पोस्ट कैसा लगा हमे जरुर बताएं।
साथ ही अगर आपके पास इस विषय से जुड़ी कोई सवाल या जिज्ञासा है तो आप वो भी हमें बता सकते हैं।