Home Full Form RO Full Form In Hindi – RO कैसे काम करता है

RO Full Form In Hindi – RO कैसे काम करता है

0
27
ro full form in hindi

आज हम आपको RO Full Form In Hindi बताएंगे। वैसे आप में से कई लोग RO से तो वाकिफ़ ही होंगे और कई लोगों को पता भी होगा कि RO हमें स्वच्छ जल उपलब्ध कराता है। हालांकि, RO Full Form क्या है? RO किस तरह से काम करता है? और किस तरह से यह आपको स्वच्छ जल उपलब्ध कराता? यह ज्यादा लोगों को नहीं पता होता। इसके साथ ही कई तरह की प्रतियोगी परीक्षाओं में RO से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। ऐसे में आज हम आपकी मदद के लिए इस लेख में आपको RO के बारे में बताएंगे।

RO Full Form क्या है

RO Full Form “Reverse Osmosis” होता है, वही RO Full Form In Hindi “विपरीत प्रसारण” कहते हैं। RO का नाम तो आपने जरूर सुना होगा तो चलिए जानते है की RO क्या होता है और यह कैसे काम करता है।

RO क्या होता है?

जैसा कि आप जानते हैं आजकल स्वच्छ पेयजल हासिल करना कितना मुश्किल हो गया है। वर्तमान समय में प्रदूषण की समस्या लगातार बढ़ती जा रही है। कितनी ही फैक्ट्रियों की गंदगी, पानी में जाकर मिलती है तथा इस गंदे पानी का सेवन मनुष्य के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। यही वजह है कि ज्यादातर जगहों पर पानी को साफ करने के लिए RO का प्रयोग किया जाता है। RO एक ऐसी प्रक्रिया है जो कि विद्युत के जरिए संचालित होती है। इस प्रक्रिया में सादे पानी को स्वच्छ पानी में परिवर्तित किया जाता है। इस पूरे चरण में एक Water Purifier पानी में आयरन, ठोस पदार्थों तथा TDS (टीडीएस) को हटाता है।

आप में से बहुत से लोगों को यह पता नहीं होगा कि TDS क्या होता है? TDS Full Form “Total Dissolved Solid” “पूर्णता घुले हुए ठोस पदार्थ” होता है। यानी कि पानी में कई खनिज लवण जैसे कैल्शियम, नाइट्रेट, लोहा सल्फर, कार्बनिक घुले हुए होते हैं जिस वजह से पानी का स्वाद खराब आता है। RO की तकनीक के जरिए इस TDS को पानी से बाहर निकाला जाता है जिससे पानी में मौजूदा अशुद्धि दूर हो जाती है। रिवर्स ऑस्मोसिस में स्वच्छ पानी हासिल करने के लिए पानी को कई झिल्लियों से होकर गुजरा जाता है और अंत में जो हमें पानी मिलता है वह स्वच्छ होता है।

RO पानी में मौजूद विषैले पदार्थ, TDS, कार्बनिक पदार्थ वे सभी तत्व, जो हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डाल सकते हैं, को फिल्टर करके इसे स्वच्छ व पीने योग्य बनाता है। वर्तमान समय में जैसे-जैसे प्रदूषण बढ़ रहा है। वैसे-वैसे RO वाटर प्यूरीफायर की भी मांग बढ़ती जा रही है। आजकल घरों से लेकर दफ्तर तक लोग इस सिस्टम का प्रयोग कर रहे हैं। बड़े शहरों में तो प्रत्येक घर में RO वाटर प्यूरीफायर आसानी से देखा जा सकता है।

RO किस तरह काम करता है

RO एक तरह की मशीन होती है जो की एक पतली झिल्ली के जरिए पानी को दबाव के साथ आगे निकालती है। इस प्रक्रिया से झिल्ली में पानी की अशुद्धियां आ जाती है तथा स्वच्छ पानी नीचे की ओर चला जाता है। इसे एक उदाहरण द्वारा समझा जा सकता है जिस तरह से पौधे मिट्टी से पानी और पोषक तत्व को अवशोषित करते हैं। इसके साथ ही मनुष्य और जानवरों के गुर्दे रक्त से पानी को अवशोषित करने के लिए भी रिवर्स ऑस्मोसिस का ही प्रयोग करते हैं। उसी तरह से RO में भी गंदे पानी से स्वच्छ पानी को बाहर निकाला जाता है। RO प्रक्रिया में क्रॉस फिल्ट्रेशन का इस्तेमाल होता है मशीन के अंतर्गत इसमें दो Section बने होते हैं जिनमें फिल्टर किया हुआ पानी एक तरफ से आता है जबकि दूषित पानी दूसरे रास्ते से निकलता है।।

RO पानी को स्वच्छ करने में कितना समय लगता है

आजकल Market में कई तरह के RO उपलब्ध है। इन सबके पानी को साफ करने की क्षमता अलग होती है। कुछ RO 8 मीटर तो, कुछ 10 तो, कुछ 15 से 25 मीटर पानी साफ कर सकते हैं। आप जितने बड़े मॉडल का इस्तेमाल करेंगे उतने ही ज्यादा पानी आपको हासिल होगी। हालांकि इनके आकार के हिसाब से इनका दाम भी काफी ज्यादा होता है इसीलिए अपने फिल्टर को खरीदने से पहले अच्छी तरह से खोजबीन कर लेनी चाहिए।

अगर बात करें RO के दाम की तो इसकी कीमत 9000 से लेकर 30000 तक हो सकती है। वही Reverse Osmosis (RO Full Form) का फिल्टर बदलने में सालाना 2500 से ₹3000 खर्च हो सकते हैं।

RO के फायदे

  • RO का सबसे बड़ा फायदा है कि यह लोगों को गंदे पानी के सेवन से होने वाली बीमारियों से बचाता है। RO उच्च रक्तचाप, तंत्रिका क्षति तथा कम प्रजनन क्षमता जैसी बीमारियों से बचाव करता है।
  • RO की शोधन प्रक्रिया में पानी बिल्कुल साफ सुथरा उपलब्ध होता है। इस प्रक्रिया के जरिए 3 लीटर पानी में से 1 लीटर पीने योग्य शुद्ध पानी निकाला जाता है।
  • RO क्लोरीन और आर्सेनिक को भी पानी से साफ कर देता है।

ये भी जरूर पढ़े:

RO के नकारात्मक पहलू

  • जहां कई लोगों का मानना है कि RO स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है, वहीं कुछ लोग यह भी मानते हैं कि RO का पानी स्वास्थ्य के लिए खतरनाक होता है। इसके साथ ही Reverse Osmosis (RO Full Form) में से फिल्टर के जरिए पानी की अशुद्धियों को दूर किया जाता है। हालांकि इस प्रक्रिया में छोटे वायरस और बैक्टीरिया तथा अन्य रासायनिक आडो दूर नहीं होते।
  • स्वास्थ्य की दृष्टि से RO का आविष्कार काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। हालांकि बहुत से वैज्ञानिक मानते हैं कि यदि RO तकनीक का इस्तेमाल अनियंत्रित रूप से किया जाता है तो यह लोगों के स्वास्थ्य के लिए गंभीर खतरा भी बन सकता है।
  • जैसा कि आप जानते हैं RO वाटर प्यूरीफायर को चलाने के लिए बिजली की जरूरत होती है। ऐसे में जिन जगहों पर बिजली नहीं है वहां इसका फायदा नहीं उठाया जा सकता।
  • आरओ वाटर प्यूरीफायर से पानी भी नष्ट होता है इस प्रक्रिया के दौरान 30 से 40 लीटर पानी बर्बाद होता है क्योंकि इसमें डाले गए पानी वैसे दूषित पानी के रूप में एक अलग पाइप के जरिए बाहर निकाला जाता है जिससे ज्यादा मात्रा में पानी की बर्बादी होती है।

निष्कर्ष (Conclusions)

इस लेख के जरिए हमने आपको RO Full Form? RO क्या होता है? RO कैसे काम करता है? RO के फायदे क्या हैं? RO के नुकसान क्या है?, से संबंधित जानकारी देने का पूरा प्रयास किया है। हमें उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई होगी। अगर यह जानकारी आपको उपयोगी लगी है, तो इसे अपने मित्रों के साथ Social Media Platforms पर शेयर करना ना भूले। अगर आपके मन में कोई अन्य सवाल है तो हमें कमेंट सेक्शन में बताएं। हम आपको जवाब देने का हर संभव प्रयास करेंगे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here