NCERT क्या है? NCERT के क्या कार्य है?

ncert full form in hindi

वैसे तो आप सभी ने कभी न कभी NCERT के बारे मे जरुर सुना होगा। मगर आप में से बहुत ही कम लोग ऐसे होंगे जिनको इसके बारे मे जानकारी होगी। NCERT क्या है और NCERT Full Form In Hindi क्या है और NCERT के क्या कार्य होते है? इस बात से तो आप सभी सहमत होंगे कि किसी भी राष्ट्र अथवा समाज के सर्वस्व विकास के लिए प्रत्येक मनुष्य का शिक्षित होना अति आवश्यक है। क्योंकि शिक्षा के बिना किसी भी व्यक्तित्व का सम्पूर्ण विकास संभव नही होता और इस तरह से किसी भी राष्ट्र का उत्थान सम्भव नही है। यह तो हम सभी जानते हैं कि शिक्षा हमारे जीवन में कितना महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। शिक्षा के माध्यम से ही व्यक्ति के व्यक्तित्व का विकास होता है उसमें अच्छे विचारों की उत्पत्ति होती है और इसी के द्वारा ही व्यक्ति अपने जीवन को उच्च शैली की ओर ले जाता है। शिक्षा के बिना कोई भी व्यक्ति अपने लिए एक बेहतरीन जीवन नहीं चुन सकता है। इसलिए हर किसी का शिक्षित होना बहुत आवश्यक है।

शिक्षा के क्षेत्र मे हमारे भारत सरकार ने भी बहुत सारे कदम उठाए हैं, भारत सरकार द्वारा देशभर के सरकारी स्कूल में बहुत सारी योजनाएं चलाई जा रही है। अगर हम वर्तमान समय की बात करे तो आज के समय में हर विद्यालय संस्थानों में शिक्षा का वृहद विस्तार हुआ है। वैसे दोस्तो अगर शिक्षा की बात हो और NCERT का जिक्र ना हो ये भला कैसे संभव हो सकता है। दोस्तों मैं आपकी जानकारी के लिए बताना चाहुंगी कि यह शिक्षा के क्षेत्र का एक बहुत ही महत्वपूर्ण अंग है। आप में से जो लोग पढ़ चुके हैं या पढ़ रहे हैं उन सभी लोगों ने NCERT की पुस्तक जरूर पड़ी होगी। दोस्तों अगर आपको NCERT के बारे में जानकारी नही है तो आपको परेशान होने की बिल्कुल भी आवश्यकता नही है क्योंकि आज के इस Post मे हम आपको NCERT Full Form In Hindi से संबंधित सम्पूर्ण जानकारी देने वाले हैं। तो चलिए शुरू करते है।

NCERT क्या है?

दोस्तो NCERT भारत सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में एक बहुत ही महत्वपूर्ण संस्थान है जो पठन-पाठन के क्षेत्र एवं विद्यालय शिक्षा से संबंधित मामलों पर केंद्र सरकार व राज्य सरकार को मशवरा देने का कार्य करती है। यह एक संस्था के रूप में कार्य करती है और स्कूल शिक्षा से संबंधित नियमों और नीतियों को बनाने का कार्य करती है। भारत की शिक्षा प्रणाली में NCERT का सहयोग किसी न किसी रूप में अवश्य ही रहता है। इसके बहुत सारे कार्य होते हैं जैसे कि हमारे शिक्षा पद्धति में समय के साथ बदलाव करना, शिक्षा के क्षेत्र में विकास करना, राज्य को शिक्षा से संबंधित सलाह देना आदि। इसे राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद कहा जाता है। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है वहीं से सारे शिक्षा प्रणाली में बदलाव संशोधन किए जाते हैं।

NCERT का मुख्य सिद्धांत है “विद्यायाऽमृतम्श्रुते” जिसका अर्थ है – “व्यक्ति विद्या से अमृत्व प्राप्त करता है।” देखा जाए तो यह कथन बिल्कुल सत्य भी है क्योकि NCERT अपने सिद्धांतों के अनुरूप ही कार्य करती है। इसके साथ ही NCERT के साथ बहुत सारे शिक्षण संस्थान भी कार्य करती है जो शिक्षा के क्षेत्र में अपने सलाह एवं सुझाव का आदान-प्रदान तथा बदलाव करने में सहायता करती है। इसके साथ ही प्रतियोगी परीक्षाओं में भी NCERT की पुस्तकों के पाठ्यक्रम को सम्मिलित किया जाता है। NCERT के निदेशक की बात करें तो वर्तमान समय में इसके निदेशक ऋषिकेश सेनापति हैं इनको 2015 के सितंबर माह से इस पद पर नियुक्त किया गया है।

NCERT Full Form In Hindi

NCERT को अंग्रेजी में “National Council of Education Research and Training” कहते हैं और NCERT Full Form In Hindi “राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद” हैं। NCERT का Official Website – ncert.nic.in है

ncert full form in hindi
NCERT Full Form

NCERT का इतिहास

भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही NCERT यानी कि राष्ट्रीय शैक्षणिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद की स्थापना सितंबर 1961 को किया गया। इसकी स्थापना में 7 राष्ट्रीय संस्थानों को सम्मिलित किया गया है। यह भारत सरकार की अपनी शैक्षणिक संस्थान है, जहां शिक्षा की नीतियों में बदलाव व संशोधन किया जाता है। NCERT भारत के सभी राज्यों में कक्षा 1 से 12 तक के विद्यार्थियों के लिए अलग-अलग भाषा में पुस्तकें प्रकाशित करती है। इसके साथ ही यह सभी विषयों में पाठ्यक्रमों का विवरण भी रखती है।

7 राष्ट्रीय सरकारी शिक्षण संस्थान – NCERT में 7 राष्ट्रीय सरकारी शिक्षण संस्थानों को सम्मिलित किया गया है जो राष्ट्रीय शैक्षणिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद यानी NCERT में कार्यरत है। यह 7 शिक्षण संस्थानों के नाम इस प्रकार हैं –

1.केंद्रीय शिक्षा संस्थान(The Central Institute of Education)
2.राष्ट्रीय बेसिक शिक्षा संस्थान (The National Institute of Basic Education)
3.केंद्रीय शैक्षिक ब्यूरो और व्यावसायिक मार्गदर्शन (The Central Bureau of Education and Vocational Guidance)
4.राष्ट्रीय मौलिक शिक्षा केंद्र (The National Fundamental Education)
5.ऑडियो विजुअल शिक्षा राष्ट्रीय संस्थान ( The National Institute of Audio and visual Education)
6.पाठ्य पुस्तक अनुसंधान केंद्र रियर व्यूरो (The Central Bureau of Textbook Research)
7.माध्यमिक शिक्षा के लिए विस्तार कार्यक्रम निदेशालय (The Directorate of Extension Programs for Secondary Education)

इसके साथ ही शिक्षा पर प्रथम राष्ट्रीय नीति 1968 को जारी हुआ इसके अंतर्गत भारत देश के सभी स्कूलों व शैक्षणिक संस्थानों में एक समान शिक्षा नीति को अपनाने पर बल दिया गया और साथ ही साथ NCERT ने राष्ट्रीय प्रतिभा खोज जैसे परीक्षाओं का कराने का भी निर्णय लिया, जिसमें पास होने वाले प्रतिभागियों को छात्रवृत्ति दी जाती है। यह प्रतियोगिता माध्यमिक विद्यालय स्तर पर आयोजित की जाती है।

NCERT के मुख्य उद्देश्य

राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान प्रशिक्षण परिषद यानी कि (NCERT) के अपने कुछ प्रमुख उद्देश्य है जिन उद्देश्यों को पूरा करने के लिए NCERT का गठन हुआ है। इसका मुख्य उद्देश्य है शिक्षा के गुणवत्ता में विकास लाना तथा शिक्षा के नए नए तकनीकी व वैज्ञानिक माध्यमों के द्वारा शिक्षा के स्तर को ऊंचा करना, साथ ही शिक्षा के प्रति भारत के हर राज्य के लोगों को जागरूक करना व देश के विकास में सहयोग करना और इतना ही नहीं समाज को समाज कल्याण के बारे में एवं स्कूल शिक्षा के प्रति संदेश देना।

NCERT के प्रमुख कार्य

दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते है कि NCERT यानी राष्ट्रीय शैक्षणिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद शिक्षा के एक संगठन के रूप में कार्य करती है। शिक्षा मंत्रालय सारे शिक्षा प्रणाली के कार्य को संभालती है। इसी प्रकार NCERT के भी कुछ कार्य है जिसके बारे में आपको जानकारी रखना आवश्यक है। जो इस प्रकार से है। –

1.NCERT का प्रमुख कार्य है समयानुसार शिक्षण प्रणाली में तकनीकी विकास करना था सभी का शिक्षा के प्रति मार्गदर्शन करना।
2.शिक्षा के स्तर को बेहतर बनाना तथा देश के हर एक व्यक्ति को शिक्षा के प्रति जागरूक करना।
3.भारत के हर एक व्यक्ति को शिक्षित बनाने तथा उनके शैक्षणिक विकास करना ।
4.हर एक विद्यार्थी को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करना।
5.स्कूलों व स्कूली शिक्षा से संबंधित सभी कार्य व सेवाओं का निर्वहन करना।
6.नए नए तकनीकी शिक्षा व वैज्ञानिक शिक्षा को आगे ले जाना जिसके द्वारा देश के विकास में सहायता प्राप्त हो।
7.शिक्षक प्रशिक्षण को प्रोत्साहन देना तथा शिक्षण संबंधित कार्यालयों व कार्यकर्ताओं की मदद करना।
8.शिक्षा पद्धति को मजबूत बनाना तथा उसे ऊंचे स्तर पर ले जाना।

ये भी जरूर पढ़े:

दोस्तों आज की Post में हमने आपको जानकारी दी NCERT क्या है और NCERT Full Form In Hindi क्या है और NCERT के क्या कार्य होते है। हम आशा करते हैं आपको हमारा या Post पसंद आया होगा। आपको हमारा ये Post कैसा लगा हमे जरुर बताएं, साथ ही अगर आपके पास इस विषय से जुड़ी कोई सवाल या जिज्ञासा है तो आप वो भी हमें बता सकते हैं।