MLA क्या है? MLA कैसे बने? जानिये हिंदी में

0
89
mla full form in hindi

भारत एक लोकतांत्रिक देश है यहां पर चुनावों के दौरान जनता द्वारा अपने प्रतिनिधियों का चुनाव किया जाता है। जिस समय चुनाव होते हैं उस समय चुनाव की खबरें हमें हर जगह देखने को मिलती है। इन्हीं खबरों में आपने MLA और विधायक शब्द को कई बार सुना होगा और आप में से कई लोग इन दोनों का मतलब भी जानते होंगे। क्या आपको पता है की MLA Full Form In Hindi क्या है और आप एक कैसे बन सकते है?

दरअसल MLA जनता द्वारा चुना गया प्रतिनिधि होता है जो कि अपने विधानसभा क्षेत्र में कार्य करता है, जिस क्षेत्र में उसे जनता द्वारा चुना जाता है। आइए इस पोस्ट के माध्यम से जानते हैं कि MLA क्या होता है? तथा MLA से जुड़ी अन्य जानकारियां हिंदी में :-

MLA Full Form In Hindi क्या है?

अगर हम MLA के Full Form की बात करें तो MLA का English Full Form “Member Of Legislative Assembly” है। इस तरह MLA Full Form In Hindi होगा “विधानसभा के सदस्य” जिसे हिंदी में आम भाषा में “विधायक” कह दिया जाता है।

MLA क्या होता है? | What is MLA?

MLA को हिंदी में विधायक कहते हैं। एक विधायक, विधानसभा का सदस्य होता है। MLA विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करता है जिस क्षेत्र में उसे जनता द्वारा प्रतिनिधि के रूप में चुना जाता है। एक MLA का चुनाव जनता द्वारा किया जाता है इसीलिए जनता के प्रति उसे कुछ जिम्मेदारियां भी निभानी पड़ती है। एक MLA का चुनाव 5 वर्षों के लिए किया जाता है और हर 5 वर्ष में चुनाव कराए जाते हैं।

एक MLA चुनाव के बाद कई तरह के कार्यों को करता है। आइए जानते हैं वे कौन-से कार्य हैं:-

MLA के कार्य

  • विधायक का मुख्य कार्य होता है कि जिस क्षेत्र में उसे चुना गया है वह उस क्षेत्र की जनता की समस्याओं को सुलझाए तथा उनकी बात को राज्य सरकार तक पहुंचाएं।
  • प्रत्येक विधायक को। क्षेत्र के विकास के लिए विकास फंड दिया जाता है। इस फंड का इस्तेमाल जनता के हितों की पूर्ति के लिए किया जाता है।
  • संसद में किसी भी तरह के कानून बनने के पक्ष या विपक्ष में MLA खड़ा हो सकता है।

MLA का कार्यकाल

एक विधायक का चयन 5 वर्षों के लिए किया जाता है। हर 5 वर्ष में चुनाव करवाए जाते हैं जिसमें MLA को नियुक्त किया जाता है। MLA का चयन जनता द्वारा किया जाता है।

MLA कैसे बने? |How to become MLA

दोस्तों अब तक हमने बात की MLA Full Form In Hindi क्या है और एक MLA क्या होता है ? साथ में हमने जाना की की MLA के क्या कार्य होते है और उसका कार्यकाल कितना होता है। MLA बनने के लिए आपको कुछ योग्यताओं का पालन करना पड़ता है। साथ ही इसके लिए आवेदन की प्रक्रिया का भी पालन करना जरूरी होता है। आइए जानते हैं कि आखिर MLA कैसे बन सकते हैं?

MLA बनने की योग्यता

MLA बनने के लिए कुछ निम्नतम योग्यताएं होनी चाहिए। आइए जानते हैं वे कौन-सी योग्यताएं हैं जिन्हें हासिल करके आप MLA बन सकते हैं:-

  • MLA बनने के लिए उम्मीदवार को भारतीय नागरिक होना जरूरी है।
  • उम्मीदवार की न्यूनतम आयु 25 वर्ष होनी जरूरी है।
  • लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 में उल्लिखित किया गया है कि उम्मीदवार को उस राज्य के निर्वाचन क्षेत्र का मतदाता होना जरूरी है जिस क्षेत्र के लिए वे प्रतिनिधित्व कर रहा है।
  • मानसिक रूप से उम्मीदवार का स्वस्थ होना जरूरी है।
  • उम्मीदवार को सरकार द्वारा चलाई जा रही किसी भी लाभप्रद योजना का भागीदार नहीं होना चाहिए।
  • इसके साथ ही इस बात का ध्यान रखा जाता है कि उम्मीदवार ने किसी बैंक से कोई कर्ज़ न लिया हो।

यदि आपने ये योग्यताएं हैं तो आप विधायक बनने के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए आवेदन की प्रक्रिया को जानना जरूरी है। आइए जानते हैं:-

MLA के लिए आवेदन की प्रक्रिया

आप MLA के लिए आवेदन दो तरीके से कर सकते हैं। आइए जानते हैं इन दोनों तरीकों के बारे में:-

  • किसी पार्टी के नेतृत्व में: यदि आप चाहते हैं कि आप किसी पार्टी के नेतृत्व में चुनाव लड़े तो इसके लिए आपको किसी पार्टी में शामिल होना होगा। साथ ही इस पार्टी के लोगों को विश्वास दिलाना होगा कि आप उक्त क्षेत्र में चुनाव जीतने में सक्षम है। एक बार यदि पार्टी को विश्वास हो जाता है कि आप चुनाव जिता सकते हैं तो वह आपको MLA पद के लिए चुनाव लड़ने की टिकट प्रदान करती है।
  • स्वतंत्र रूप से: यदि आप बिना किसी पार्टी के स्वतंत्र रूप से चुनाव लड़ना चाहते हैं तो भी लड़ सकते है। इस तरह के उम्मीदवारों को निर्दलीय कहा जाता है।

आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाने पर आप एक उम्मीदवार के रूप में खड़े होते हैं:-

MLA के चुनाव प्रक्रिया

जैसे कि आप जानते हैं विधायकों को मतदाता निर्वाचन क्षेत्र से चुना हैं लेकिन इसकी भी एक प्रक्रिया होती है।:-

  • भारत के प्रत्येक राज्य को जनसंख्या के आधार पर भिन्न निर्वाचन क्षेत्रों में बांटा गया है।
  • निर्वाचन क्षेत्र में खड़े होने वाले उम्मीदवारों का चुनाव उस निर्वाचन क्षेत्र की जनता द्वारा किया जाता है। प्रत्येक नागरिक जो अपने 18 वर्ष तक की आयु पूरी कर चुका है वह वोट डाल सकता है।
  • किसी भी निर्वाचन क्षेत्र में उम्मीदवार को खड़े होने के लिए योग्यता मापदंडों को पूरा करना जरूरी है।
  • उम्मीदवार चुनाव में खड़े होने के लिए या तो किसी पार्टी के साथ जुड़ सकता है या तो निर्दलीय रहकर चुनाव लड़ सकता है।
  • निर्वाचन क्षेत्र के खड़े वाले उम्मीदवार अपने योजनाओं के बारे में जनता को बताने के लिए रैली करते है।

MLA का वेतन और भत्ता

एक MLA की मासिक सैलरी 75,000 रुपये होती है। इसके अलावा उन्हें 2,4000 डीजल और पेट्रोल के खर्च के लिए 60,000 PA खर्च, 6000 रुपए, स्वास्थ्य संबंधी खर्च के लिए 60,000 रुपए है। इस तरह हम कह सकते हैं कि एक MLA को 1,87000 प्रति महीने मिलते हैं इसके साथ ही विधायकों को रहने के लिए आवाज खाने पीने का खर्च भी मिलता है

वैसे अलग-अलग राज्यों में MLA की सैलरी अलग-अलग हो सकती है।

उदाहरण के लिए उत्तर प्रदेश में विधायकों की सैलरी 1.87 लाख है। जबकि महाराष्ट्र में 1.70 लाख, जम्मू कश्मीर और उत्तराखंड में 1.60 लाख, आपको बताते भारत में तेलंगाना राज्य के विधायकों को सबसे ज्यादा सैलरी दी जाती है। सबसे कम सैलरी त्रिपुरा के विधायकों को दी जाती है यहां के विधायकों की सैलरी ₹34000 प्रति माह होती है वही नागालैंड के विधायकों का वेतन ₹36000 होता है।

ये भी जरूर पढ़े:

Frequently Asked Questions About MLA

Q.1 MLA Full Form क्या होता है?

Ans. MLA Full Form “Member Of Legislative Assembly” है, MLA Full Form In Hindi “विधानसभा का सदस्य” है।

Q.2 भारत में कुल कितने विधायक हैं?

Ans. भारत में विधायकों की संख्या 4125

Q.3 MLA बनने के लिए न्यूनतम आयु कितने वर्ष होनी चाहिए?

Ans. MLA बनने के लिए उम्मीदवार की न्यूनतम आयु 25 वर्ष होनी जरूरी है।

Q.4 MLA का कार्यकाल कितने वर्ष का होता है?

Ans. MLA का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है।

निष्कर्ष (Conclusions): इस पोस्ट में आपने जाना है कि MLA Full Form In Hindi क्या होता है तथा एक MLA क्या है? MLA की योग्यता क्या है? यदि आपको इस पोस्ट से संबंधित कोई जानकारी लेनी है या फिर आप एमएलए के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी जानना चाहते हैं, तो हमें कमेंट सेक्शन में बताए। हमें आपके सवालों का हल बताकर खुशी मिलेगी।