LMV Full Form In Hindi LMV NT क्या है…?

0
408
lmv full form

दोस्तों क्या आपको LMV Full Form In Hindi के बारे में पता है अगर आपका उत्तर नहीं है तो यह लेख आपके लिए है। आज के इस लेख में हम आपको जानकारी देने वाले है लम्व की फुल फॉर्म के बारे में और साथ में हम आपको भी बातएंगे की LMV क्या होता है और भारत में अलग-अलग प्रकार के लाइसेंस कौन-कौन से है और वो किस श्रेणी के अंदर आते है। अगर आप इन सब सवालो का जवाब जानना चाहते है तो इस लेख को अंत तक पढ़े।

LMV Full Form In Hindi

दोस्तों LMV Full Form है “Light Motor Vehicle”। यह ड्राइविंग लाइसेंस की एक श्रेणी है। मोटर वाहन अधिनियम, 1988 के अनुसार इंडिया में किसी भी प्रकार के वहां को Highway या Road पे चलने के लिए एक Document की आवश्यकता होती है जिसे ड्राइविंग लाइसेंस कहते है। अगर आपके पास ड्राइविंग लाइसेंस नहीं है तो आप किसी प्रकार का वहां नहीं चला सकते।

LMV NT Full Form

हम LMV Full Form In Hindi से भलीभांति परिचित हो गए है लेकिन LMV-NT का Full Form क्या है। दोस्तों LMV-NT का Full Form है – Light Motor Vehicle-Non Transport. इस श्रेणी में वो सब वाहन आते है जो व्यक्ति अपने निजी प्रयोग के लिए इस्तेमाल करता है। LMV-NT के अंतर्गत किसी प्रकार का कोई Commercial vehicle नहीं आता। आपको ये जानकार हैरानी होगी की इंडिया में सबसे ज्यादा ड्राइविंग लाइसेंस इसी श्रेणी में बनते है।

दोस्तों अब आपके मन में एक सवाल जरूर उठ रह होगा की क्या LMV-NT लाइसेंस धारक LMV वाले Commercial Vehicle नहीं चला सकते ? तो इसके लिए सुप्रीम कोर्ट के वर्ष 2017 मे एक निर्णय आया था जिसके आधार पर LMV-NT वाले लाईसन्स धारक भी LMV वाले कमर्शियल वाहन चला सकते है।

LMV क्या है?

LMV एक Driving License की श्रेणी है जिसमे वो सब चार पहियों वाले वाहन आते है जिनका उपयोग Commercial कामो में किया जाता है जैसे की Jeep, Taxi, Motorcars, Pickup, Tractor, Rickshaw, Delivery Van इत्यादि शामिल किये गए है। आपको ये जानकार हैरानी होगी की भारत में प्रत्येक वर्ष 1.5 cr लोग ड्राइविंग लायसन्स के लोइये आवेदन करते है। दोस्तों जैसा हम जानते है की भारत में किसी भी वाहन को, चाहे मोटरसाइकिल ही क्यों ना हो Driving License (DL) की जरूरत पड़ती है। अगर आप कोई गाड़ी सीख रहे है तो उसके लिए भी आपको Learners Driving License की जरूरत होती है जिसके लिए आपको RTO के कार्यालय में आवेदन करना होता है। भारत में विभिन्न श्रेणियों में ड्राइविंग लाइसेंस जारी किये जाते है जिनका विवरम हम निचे देने वाले है।

Driving License कैसे बनवाये

दोस्तों अगर आपकी आयु 16 वर्ष है तो आप Motorcycle यानी की 2 पहिये वाले वाहनों के लिए आवेदन कर सकते है, 4 पहियों वाले वाहन के लिए आपकी आयु 18 वर्ष होनी अनिवार्य है। आवेदन करने के बाद आपको RTO ऑफिस में Driving License की फीस जमा करवानी होती है। उसके बात RTO Office आपका ड्राइविंग टेस्ट लेता है जिसके 2 चरण होते है मौखिक या लिखित परीक्षा (राज्य पर निर्भर करता है), सड़क पर हस्ताक्षर परीक्षण के बाद एक पर्यवेक्षित ड्राइविंग परीक्षा। जब आप ड्राइविंग टेस्ट को पास क्र लेते है तो आपको उस वाहन श्रेणी के लिए Driving License जारी कर दिया जाता है जिसके लिए आपने आवेदन किया था।

LMV Full Form

Driving License के लिए Online आवेदन करे

ड्राइविंग लाइसेंस की श्रेणियां

दोस्तों यहां पे यह उन श्रेणियों की सूची जारी कर रहे है जो भारत में ड्राइविंग लाइसेंस पर मिल सकती है। निचे दी गई जानकारी बहुत ही महत्वपूर्ण है क्यूंकि इसकी मदद से आप भारत में अलग-अलग प्रकार के लइसेंस के बारे में जान पाएंगे।

  • MC 50CC (मोटरसाइकिल 50cc) – इस श्रेणी के अंदर वो सब मोटरसाइकिलें आती है जिसकी इंजन क्षमता 50cc या उससे कम हो।
  • MC EX50CC (मोटरसाइकिल 50cc से अधिक)- मोटरसाइकिल, हल्के मोटर वाहन, और कारें जिनकी इंजन क्षमता 50cc से अधिक है।
  • 50cc या उससे अधिक (पुरानी श्रेणी) की इंजन क्षमता वाले गियर इंजन / स्कूटर किसी भी इंजन की क्षमता के साथ या बिना गियर के।
  • MC बिना गियर या M / CYCL.WOG (बिना गियर वाली मोटरसाइकिल) – मोटरसाइकिल, बिना गियर के स्कूटर, सभी मोटरसाइकिल इसमें शामिल है।
  • MCWG या MC गियर या एम / CYCL.WG (गियर के साथ मोटरसाइकिल) – सभी मोटरसाइकिल, जिनकी इंजन क्षमता 175cc से अधिक है।
  • LMV-NT (Light Motor Vehicle-Non Transport) – इसमे वो सब वाहन शामिल है जो केवल निजी उपयोग के लिए है।
  • LMV-INVCRG- एनटी (लाइट मोटर व्हीकल- अमान्य कार्रिग-नॉन ट्रांसपोर्ट) – केवल शारीरिक रूप से विकलांग व्यक्तियों द्वारा व्यक्तिगत उपयोग के लिए
  • LMV-TR (लाइट मोटर व्हीकल-ट्रांसपोर्ट) – हल्के माल वाहन या ऐसे वाहन जिनका उपयोह वाणिज्यिक परिवहन के लिएकिया जाता है।
  • LMV (Light Motor Vehicle)- जिसमें कार, मोटर साइकिल गियर, जीप, टैक्सी, डिलीवरी वैन शामिल हैं।
  • LDRXCV (लोडर, खुदाई, हाइड्रोलिक उपकरण) – सभी वाहन जो हाइड्रोलिक एवं भारी उपकरणों के वाणिज्यिक के लिए उपयोग होते है।
  • HMV (हैवी मोटर व्हीकल)- इसमें वो सभी हैवी वाहन शामिल है जिनका प्रयोग माल को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाने के लिए किया किया जाता है।
  • HTV भारी परिवहन वाहन: इस श्रेणी में भारी माल मोटर वाहन, भारी यात्री मोटर वाहन, हैवी गुड्स मोटर व्हीकल, हैवी पैसेंजर मोटर वाहन शामिल है।

Also Read: ITI Full Form- Industrial Training Institute क्या है?

Frequently Asked Question

LMV Driving License से कौनसी गाड़िया चला सकते है?

LMV लाइसेंस धारक हल्के मोटर वाहन चला सकते है, जिनमें मोटरकार, जीप, टैक्सी, डिलीवरी वैन, ट्रेक्टर इत्यादि शामिल है।

LMV NT Driving License से कौनसी गाड़िया चला सकते है?

LMV-NT ड्राइविंग लाइसेंस धारक हल्के मोटर वाहन जो गैर-परिवहन उद्देश्यों के लिए उपयोग किए जाते हैं उनको चला सकते है

Driving License के बिना गाड़ी चलाने पर कितना जुर्माना भरना पड़ सकता है ?

अगर आप बिना लाइसेंस के गाड़ी चलाते हुए पकड़े जाते हैं, तो आप पर 5,000 रुपये का जुर्माना लगाया जा सकता जो की पहले के 500 रुपये जुर्माना से दस गुना अधिक है।

क्या LMV License धारक LMV-NT वाले Commercial Vehicle चला सकते?

सुप्रीम कोर्ट ने वर्ष 2017 मे एक फैसला सुनाया था जिसके अनुसार LMV License धारक LMV-NT वाले Commercial Vehicle चला सकते।

दोस्तों आज के इस लेख में हमने जानकारी प्राप्त की LMV Full Form In Hindi के बारे में और साथ में ही हमने विभिन्न प्रकार की ड्राइविंग लाइसेंस श्रेणियों को जिक्र किया। अतः हम समझ गए है की बिना Driving License के गाड़ी चलाना एक जुर्म है और उसके लिए हमे जुर्माना भरना पड़ सकता है। इसलिए मेरा आपको यही सुझाव है की ट्रैफिक नियमों का सख्ती से पालन करे। सभी जरूरी कागजात को गाड़ी चलते समय साथ में रखे। मोटरसाइकिल चलाते समय हेलमेट का जरूर प्रयोग करे क्यूंकि इस से हमारे जान और माल (पैसा) दोनों का नुकसान होने से बचता है। अगर इसके आपके बारे में कोई और राय या कोई सवाल है तो आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते है। अगर आप इस जानकारी से संतुष्ट है तो इसको अपने दोस्तों के साथ जरूर साँझा करे। धन्यवाद!