HRD Full Form In Hindi HRD क्या है? जानिये हिंदी में…

0
172
hrd full form in hindi

HRD Full Form In Hindi: दोस्तों, ये तो हम सभी जानते हैं कि परिवर्तन ही प्रकृति का नियम है। यह परिवर्तन किसी भी रुप में यानि कि सकारात्मक व नकारात्मक दोनों ही हो सकते हैं। मगर जब किसी भी समाज, देश, व विश्व में कोई भी ऐसा परिवर्तन होता है जो उसके लिए बेहद सकारात्मक और हमारे आस पास के वातावरण, हमारी प्रकृति और हम सभी मानव को बेहतरी एवं तरक्की की ओर ले जाता है वही बदलाव वास्तव में विकास होता है। अगर आप इतिहास को खंगालेंगे तो पाएंगे हर समय काल परिस्थिति मे विकास का अपना एक अलग ही रुप होता है, कभी यह मानव विकास है तो कभी सामुदायिक विकास। इसके साथ ही सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक रुप में अलग-अलग शब्दों का प्रयोग हुए और इस बदलाव भी ने विकास की परिभाषा को बदल कर रख दिया है। इसी कड़ी में आज हम बात करेंगे HRD यानि ‘मानव संसाधन विकास’ के बारे मे।

अब हर कार्य को करने के लिए लिए अलग-अलग Department बनाए जाते है। इसी तरह किसी भी संस्थान में कर्मचारियों को अपने व्यक्तिगत और संगठनात्मक कौशल ज्ञान और क्षमताओं को विकसित करने के लिए यह एक रूपरेखा तैयार करता है। इस मानवीय संसाधनों का प्रबंध करना ही HRD का सबसे महत्वपूर्ण व केंद्रीय कार्य है। आज के इस Post में हम आपको HRD से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियों जैसे कि HRD Full Form In Hindi, HRD क्या है?, इसके कार्य आदि के बारे में विस्तृत जानकारी देंगे। HRD से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियों को प्राप्त करने के लिए हमारे आज के इस Post को अंत तक जरूर पढ़ें। तो चलिए शुरू करते हैं।

HRD Full Form In Hindi


HRD का Full Form ‘Human Resources Development’ होता है और हिंदी में ( HRD Full Form In Hindi) इसे ‘मानव संसाधन विकास’ भी कहते है। ध्यान रहे कि HRD से संबंधित अलग-अलग Department है और उनके Full Form भी है, तो यहां ‘मानव संसाधन विकास’ के बारे में जानकारी प्रदान कर रहे हैं जिसका Full Form ‘Human Resources Development’ होता है।

HRD क्या होता है?

HRD एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके अंतर्गत कर्मचारियों के पर्सनल व संगठन ज्ञान को बढ़ावा देता है। HRD (HRD Full Form In Hindi) मे कर्मचारियों को Training दी जाती है कि कार्य को कैसे करना है, कैसे Organization को Maintain रखना है, इसके लिए बहुत सारे केंद्र स्थापित किए जाते हैं जहां पर Training लेकर कर्मचारी ज्ञान से निपुण हो जाए। मानव संसाधन किसी भी संगठन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होते हैं। Human Resource Development भी Human Resources Management का एक हिस्सा होता है इसके अंदर कर्मचारियों के चयन के बाद उनको Training देने का काम किया जाता है और उनको कुछ नया सीखने का अवसर दिया जाता है तथा अन्य प्रकार के संसाधनों का उपलब्ध कराया जाता है।

hrd full form in hindi
HRD Full Form

HRD के प्रमुख कार्य

मानव संसाधन विकास काम कर रहे कर्मचारियों को उनके व्यक्तिगत और संगठन के कौशल ज्ञान और क्षमताओं को विकसित करने में मदद करता है। HRD के द्वारा कर्मचारी प्रशिक्षण कर्मचारी कैरियर प्रदर्शन प्रबंधन और विकास सहायता और संगठन विकास जैसे अवसर शामिल है ताकि व्यक्तिगत कर्मचारी ग्राहकों की सेवा में अपने कार्य के लक्ष्य को पूरा कर सके। आज हम आपको मानव संसाधन विकास के कार्य मानव संसाधन विकास में कर्मचारियों को प्रशिक्षण देकर उनके Carrier को एक नया आयाम देना है। जो कि इस प्रकार है –

1. विकासात्मक कार्य – HRD के कार्यों में सबसे पहला कार्य विकासात्मक कार्य है कर्मचारियों की छमता के अनुसार वे अपने कार्य को अच्छे ढंग से कर सकने में समर्थ हो।आजकल की व्यावसायिक वातावरण में कर्मचारियों को अपने एक संगठन में रहकर अपनी क्षमता का विकास करना है ताकि वह संगठन के उद्देश्यों को प्राप्त कर सके।

2. रख-रखाव कार्य – कर्मचारी के रखरखाव कार्य के संबंध में कर्मचारियों की संतुष्टि स्तर को बढ़ावा तथा उनकी समस्याओं और सुविधाओं को दूर कर कार्य करने योग्य बनाना है।

3. नियंत्रण कार्य – इसका संबंध संगठन के उद्देश्यों व मानव संसाधन विकास कार्यक्रमों में संबंध में करना होता है इनमें से किसी भी तरह का कोई अंतर पाया जाएगा तो कड़ी कार्यवाही की जाती है इसके अंतर्गत कर्मचारियों को विकास में प्रोत्साहन मिलता है।

4. कैरियर विकास – संगठन में कार्य करने वाले व्यक्ति का अपने हितों और क्षमताओं के आधार पर कैरियर का लक्ष्य होता है जिससे वह हासिल करना चाहते हैं और ऐसा डी का कार्य होता है उनके निर्धारित लक्ष्य तक उनको पहुंचाना जिससे वे नई विकास के मार्ग से प्रशिक्षित होकर अपने उस लक्ष्य को हासिल कर सके।

HRD के प्रमुख उद्देश्य –

इसके निम्न मुख्य में उद्देश्य हैं। –

1. संगठनात्मक प्रभावशीलता
2. बेहतर गुणवत्ता और उत्पादकता
3.कर्मचारी की क्षमता का विकास करना
4. योग्यता अंतराल की पहचान करना
5. प्रेरणा विकास
6. Team Building और सहयोगी जलवायु को बढ़ावा देना

HRD के सिद्धांत

1.क्षमता विकास का सिद्धांत संगठन
2.संभावित अधिकतम अधिकतम करण का सिद्धांत
3. स्वायत्तता का सिद्धांत
4.उचित प्रत्यायोजन का सिद्धांत
5. सहभागी निर्णय लेने का सिद्धांत
6.परिवर्तन प्रबंधन का सिद्धांत
7.आवधिक समीक्षा का सिद्धांत

HRD के अंतर्गत आने वाले Department

शिक्षा मंत्रालय जिसने पहले मानव संसाधन विकास मंत्रालय के नाम से जाना जाता था मानव संसाधन विकास मंत्रालय पूर्व में शिक्षा मंत्रालय 25 सितंबर से 1985 तक भारत में मानव संसाधनों के विकास के लिए जिम्मेदार है इस मंत्रालय को दो भागों में बांटा गया है ।

1. स्कूल शिक्षा
2. साक्षरता विभाग यह विभाग वयस्क शिक्षा और साक्षरता उच्च शिक्षा विभाग माध्यमिक शिक्षा प्राथमिक शिक्षा तकनीकी शिक्षा छात्रवृत्ति आदि से संबंधित है। इस मंत्रालय का नेतृत्व कैबिनेट रैंक वाले मानव संसाधन विकास मंत्री परिषद का एक सदस्य होता है और इसी तरह एक और भी विभाग होता है। Human Resources Department जिसे हिंदी में मानव संसाधन विभाग कहते हैं। यह किसी भी संस्थान के कर्मचारियों की भर्ती और निकासी के लिए उत्तरदाई होता है। सीधे शब्दों में किसी भी Company के लिए HR Department महत्वपूर्ण हिस्सा होता है जो कार्य कुशलता व सुचारू रूप से चलाने का कार्य करता है तथा कर्मचारियों की भर्ती निकासी से लेकर उनके हक की भी रक्षा करता है।

ये भी पढ़े:

दोस्तों आज की Post में हमने आपको जानकारी दी HRD Full Form In Hindi, HRD क्या है?, इसके कार्य आदि के बारे में विस्तृत जानकारी, आपको हमारा ये Post कैसा लगा हमे जरुर बताएं। साथ ही अगर आपके पास इस विषय से जुड़ी कोई सवाल या जिज्ञासा है तो आप वो भी हमें बता सकते हैं।