CDN क्या है? CDN कैसे कार्य करता है?

0
30
cdn full form

कई लोगों का सपना होता है कि वे डॉक्टर, इंजीनियर, शिक्षक और पत्रकार बन पैसा, नाम शोहरत कमाएं। वहीं कई लोग इससे अलग रास्ता अख्तियार करते हैं। वह कुछ ऐसा करते हैं जिससे उन्हें यही पैसा, नाम और शोहरत हासिल हो। इन्हीं कार्यों में से एक काम है, Blogging। वर्तमान समय में Blogging कितनी ज्यादा लोकप्रियता हासिल कर रहा है, यह तो आप जानते ही हैं। तथा Blogging के जरिए आप आसानी से लोगों के बीच अपनी पहचान बना सकते हैं। आज के इस लेख में हम बात करने वाले है CDN क्या होता है और यह कैसे काम करता है CDN Full Form आदि के बारे में।

आजकल ज्यादातर लोग Websites और Blog बनाकर Online Business कर रहे हैं। हालांकि Blogging शुरू करने से पहले कई चीजों की जानकारी होनी जरूरी है। अगर आप भी उन लोगों में से एक है जो Blogging के रूप में अपने Career को आगे बढ़ाना चाहते हैं, तो आपको इन चीजों के बारे में पता होना चाहिए। इन्हीं चीजों में से एक महत्वपूर्ण चीज है CDN जिसके बारे में जानकारी होना नितांत आवश्यक है। आइए जानते हैं कि CDN क्या होता है? तथा यह क्यों जरूरी है?

CDN Full Form क्या है?

CDN Full Form ‘Content Delivery Network’ होता है और Blogging Career में CDN का एक महत्वपूर्ण Role होता है। आइये जानते है CDN क्या है और यह कैसे काम करता है, उसके बाद हम जानेगे CDN को इस्तेमाल करने के क्या फायदे है।

CDN क्या है?

मान लीजिए आप किसी भी Website के Content को पढ़ना चाहते हैं। अगर उस Website को Load होने में या फिर खोलने में काफी ज्यादा समय लग जाएगा तो आप शायद Website को बंद कर दें। ऐसे में उस blog में Visitors आने भी कम हो जाएंगे। इसके अलावा किसी भी Website में अगर काफी ज्यादा Visitors आने लगते हैं तो इससे Server overload हो जाता है जिससे कि Server की Loading Speed काफी कम हो जाती है। कई बार Server Crash भी हो जाता है। इसी परेशानी का समाधान है, CDN।

cdn full form
CDN Full Form

Content Delivery Network (CDN Full Form) का प्रमुख कार्य होता है, आपके Blog की Loading Speed में वृद्धि करना। यह आपकी Website की Loading Speed बढ़ाने के साथ ही Website के Contents जैसे की Images, Videos को भी Load करने में तीव्रता लाता है।

CDN के प्रकार

नीचे हम CDN के प्रमुख प्रकारों के बारे में बता रहे हैं:-

  • Peer to Peer CDN
  • Content Service Protocols
  • Push CDN
  • Pull CDN
  • Private CDN

CDN कैसे कार्य करता है?

CDN किसी भी Website की Loading Speed बढ़ाने में काफी ज्यादा महत्वपूर्ण साबित होता है। मान लीजिए आपके पास कोई ब्लॉग या फिर Hosting Website है तो अगर आप अपनी Website Loading Speed को बढ़ाना चाहते हैं तो ऐसे में आपको CDN को enable करना जरूरी है।

अब बात करते हैं कि CDN कैसे कार्य करता है? दरअसल, जब कोई भी Visitor आपके Blog को Open करता है तो CDN Active हो जाता है। अगर वह Visitor आपकी Website को open नहीं कर पा रहा है या फिर ओपन करने में काफी ज्यादा समय लग रहा है तो ऐसे में CDN अपने Server से Website को Load कर देता है जिससे कि आपकी Loading fast हो जाती है।

CDN का इस्तेमाल क्यों ज़रूरी है?

  • Visitors आकर्षित करता है : अगर users आपकी Website को तीव्रता से खोल सकेंगे तो ऐसे में उन्हें बेहतर अनुभव हासिल होगा जिसे धीरे-धीरे आपके Website में Users की संख्या बढ़ती जाएगी।
  • Server Crash नहीं होगा : अगर आपकी Website में काफी बड़ी संख्या में Visitors आते हैं तो ऐसे में आपके लिए CDN का इस्तेमाल करना काफी जरूरी होता है क्योंकि ज्यादा Visitors आने से Website के Crash होने की संभावनाएं बढ़ जाती है। लेकिन CDN का इस्तेमाल करने के बाद आपकी वेबसाइट Crash नहीं होगी।

लेकिन अगर आप अपनी Website में CDN का इस्तेमाल करते हैं तो आपका Server Crash होने से बच जाता है। अब सवाल उठता है कि CDN ऐसा कैसे करता है? दरअसल, CDN किसी भी Website के Main Server के सभी Load को अपने Server में बांट देता है जिससे की Website पर ज्यादा Load नहीं पड़ता और लोग CDN के जरिए आपकी Website पर access कर सकते हैं।

  • तीव्रता : CDN का इस्तेमाल करने से आपकी Website की Loading Speed में तीव्रता होती है जिससे आपके Visitors के लिए किसी भी चीज को Load करने में समय नहीं लगता।

CDN के क्या फायदे हैं?

  • Loading Speed में वृद्धि करता है:– CDN का सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह किसी भी Website की Loading Speed को बढ़ा देता है। ऐसे में Website पर लगने वाला समय काफी कम हो जाता है और Visitors आसानी से आपकी Website को खोल पाते हैं।
  • Google Search Ranking :- CDN का फायदा यह है कि यह आपकी Website को Google में Rank करने में मदद करता है। जैसा कि आप जानते हैं कि Google First Page में वही Website Rank करती है जिसकी Loading Speed ज्यादा होती है तथा जिसमें Visitors की संख्या काफी ज्यादा होती है। अगर आपकी Website को Visitors जल्दी नहीं खोल सकेंगे तो कैसे आपके Website में Visitors की संख्या बढ़ेगी। यही वजह है कि CDN कोई Enable करने से आपकी Website में Traffic काफी तीव्रता से आने लगता है।
  • Bandwidth खर्च को कम करता है:- CDN Caching और अन्य Optimization पर होने वाले डाटा की मात्रा को कम करता है। इससे आपके Bandwidth Cost कम होती है।
  • Website में Load को Control करता है:- अगर आपकी Website में काफी ज्यादा मात्रा में Traffic आ रहा हैं तो इतने Load को आपका Website बर्दाश्त नहीं कर पाएगा और Crash हो जाएगा। लेकिन अगर आप CDN का इस्तेमाल करते हैं तो इससे आपकी Website ज्यादा Load वहन कर पाती है और Crash नहीं होती।

भारत के प्रमुख CDN Provider कंपनियां

वर्तमान समय में कई लोग blogging के जरिए अपने करियर को सँवार रहे हैं। यही वजह है कि अपने Business को अन्य लोगों के मुकाबले तीव्रता से चलाने और आगे बढ़ाने के लिए CDN की आवश्यकता बढ़ गई है, क्योंकि CDN आपकी Website की ट्रैफिक को बढ़ाने में काफी ज्यादा मदद करता है। भारत में कई CDN Provider कम्पनियां ऐसी है जो अपनी सेवाएं प्रदान करती हैं, तो आइए जानते हैं कि भारत की प्रमुख Content Delivery Network (CDN Full Form) कौन से हैं:-

  • Cloud flare India
  • Key CDN
  • Coral CDN
  • Max CDN
  • Incapsula CDN
  • Microsoft Azure CDN
  • Lease web CDN
  • Google Cloud CDN
  • A kamai
  • SwarmCDN
  • Photon by jetpack CDN
  • Stackpath CDN
  • Vastly
  • Services (AWS)
  • CDN77

ये भी जरूर पढ़े:

निष्कर्ष (conclusions):

तो दोस्तों इस पोस्ट के जरिए हमने जाना कि CDN Full Form क्या है? CDN क्या होता है? तथा CDN आपकी Website के लिए क्यों जरूरी है। इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप यह तो समझ गए होंगे कि Content Delivery Network का इस्तेमाल के बाद आपकी Website में ज्यादा लोग आने लगेंगे जिससे आपकी Website Google में रैंक भी करने लगेगी इसीलिए CDN का इस्तेमाल करना काफी ज्यादा जरूरी होता है। अगर आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई तो इसको अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद।