Home Full Form BHMS Full Form BHMS के बारे में पूरी जानकरी

BHMS Full Form BHMS के बारे में पूरी जानकरी

bhms full form

आज के हमारे इस Post में हम आपको BHMS Full Form, BHMS क्या है, के बारे में बताने जा रहे है। यह Medical Field से जुड़ा एक Course है, जो भी Students Medical Sector मे जाने का सपना देखते है, यह उनके लिए एक बेहतरीन Course है। अक्सर 12वीं उत्तीर्ण करने के बाद Students के सामने आगे की पढ़ाई करने के लिए ढेर सारी चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। जिसमे सबसे बड़ी चुनौती एक सही Course को चुनना तथा उसी के द्वारा Career में आगे बढ़ना है और इस कड़ी में छात्र कभी कभी उलझ जाते हैं। सही दिशा ना मिल पाने के कारण किसी भी Course मे बिना जाने समझे Admission ले लेते है। इसलिए किसी भी Course को करने से पहले उसकी सारी जानकारी ले लेना जरूरी हो जाता है और BHMS उन्हीं बेहतरीन Course मे से एक है जिसे करके छात्र अपना भविष्य उज्जवल बना सकता है।

Medical Sector मे जाने की इच्छा रखने वाले Students के लिए यह Course एक अच्छा Career Options है। जैसे MBBS, Allopathy Medicine में एक Bachelor यानी की Graduate Course है उसी तरह से BHMS Homeopathy Medicine मे एक Bachelor Course है। ये तो आप सभी जानते है कि होम्योपैथिक चिकित्सा प्रणाली एक प्राचीन और प्राकृतिक चिकित्सा प्रणाली है जिस से Patients का Treatment किया जाता है। आज के इस Post मे हम आपसे BHMS Full Form, BHMS Course से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारियों को साझा करेगे।

BHMS Full Form

BHMS Full Form “Bachelor of Homeopathic Medicine And Surgery” है। हिंदी में इसका अर्थ “होम्योपैथिक चिकित्सा एवं शल्य चिकित्सा स्नातक” (BHMS Full Form In Hindi) होता है। इस कोर्स से मेडिकल क्षेत्र में Career बनाना एक अच्छा Option है। यह कोर्स क्या है और इसको कैसे कर सकते है वो पूरी जानकारी इस लेख में आपको मिलेगी।

BHMS Course क्या है?

BHMS Homeopathic Medical Field का एक Graduation Degree होता है। इस Course के अंतर्गत पेड़ पौधों से बनाए जाने वाले होम्योपैथिक दवाओं का पूर्ण रूप से अध्ययन कराया जाता है। जो भी छात्र इस Course को करके Graduation की Degree प्राप्त कर लेता है वह होम्योपैथिक चिकित्सा का डॉक्टर बनने के योग्य हो जाता है। मै आपकी जानकारी के लिए बताना चाहुंगी कि होम्योपैथिक का आविष्कार 18th Century में जर्मनी के डॉक्टर सैमुअल हैनीमैन के द्वारा किया गया था और अगर हम भारत की बात करे तो भारत में सबसे पहले होम्योपैथिक की शुरुआत बंगाल में हुई थी। सबसे पहले होम्योपैथिक Medical College को सन् 1881 में भारत के कोलकाता में स्थापित किया गया और इसके साथ ही भारत के पहले Homeopathic Physician महेंद्र लाल सरकार थे।

जहां तक इस Course के समय अवधि की बात है तो इस Course की समय अवधि साढ़े 5 साल की होती है यानी इस Course को Complete करने में पूरा साढ़े 5 साल का समय लग जाता है जिसमें 4.5 साल का College और 1 साल का होम्योपैथिक में Internship करना होता है। फिर BHMS Course करने के बाद छात्र के नाम के आगे डॉक्टर के पद को जोड़ दिया जाता है। इस Course के अंतर्गत आपको Theoretical Knowledge के साथ-साथ Practical Knowledge के बारे मे भी जानकारी प्रदान दी जाती है। वर्तमान समय में होम्योपैथिक में अपनी एक जगह बना ली है‌। होम्योपैथी चिकित्सा के अंतर्गत लगभग सभी बिमारियों का इलाज संभव है।

BHMS Course हेतु शैक्षणिक योग्यता –

अगर आप भी इस Course में Admission लेने के इच्छुक है तो आपके पास इसकी निर्धारित योग्यताओं का होना अनिवार्य है। अगर आप निर्धारित योग्यताओं की पूर्ति नही करते है तो आपको BHMS Course में Admission प्रदान नहीं किया जा सकता है। BHMS Course में Admission के लिए निम्नलिखित योग्यताएं है जो इस प्रकार है।

  • इस Course में Admission लेने के लिए Students को 12वीं में Science Stream का छात्र होना आवश्यक है।
  • BHMS में Admission लेने के लिए 12वीं में कम से कम 50 से 55% अंको का होना अति आवश्यक है।
  • इस BHMS Course में Admission लेने के लिए Students की आयु लगभग 17 साल होनी चाहिए।
  • PCB Stream के साथ English Subject का होना आवश्यक है।

BHMS Course हेतु Fee Structure –

BHMS Course के Fee Structure की बात करे तो इस Course के लिए अलग-अलग Colleges के द्वारा अलग अलग फीस ली जाती है। जहां Government College मे इस BHMS Course के लिए प्रति वर्ष लगभग 20,000 से 50000 तक फीस ली जाती है जबकि Private Colleges मे सरकारी कॉलेजों की अपेक्षा ज्यादा फीस होती है। Private Colleges में Educational Facilities और अन्य Facilities के आधार पर फीस निर्धारित की जाती है, निजी संस्थानों मै BHMS Course के लिए प्रतिवर्ष लगभग 50000 से ₹ 2 लाख तक फीस होती है।

BHMS Course हेतु Syllabus

दोस्तो BHMS Course के अंतर्गत आपको Homeopathic System का पुर्ण रुप से अध्ययन करवाया जाता है। यह Course करने मे लगभग 5.5 साल तक का समय लगता है। जिसमे से 4.5 साल तक का समय BHMS Course Study की जाती है और इसके पश्चात किसी Hospitals, Health Center, से लगभग एक साल तक का Internship Program करना होता है। BHMS Course हेतु निर्धारित पाठ्यक्रम निम्नलिखित है।

BHMS Course First Year Syllabus

  • होम्योपैथिक के सिद्धांत
  • दर्शन और मनोविज्ञान, चिकित्सा
  • एनाटॉमी, हिस्टोलॉजी
  • बायोकेमिस्ट्री, फिकोलॉजी
  • होम्योपैथिक फार्मेसी
  • होम्योपैथिक मटेरिया मेडिका

BHMS Course Second Year Syllabus –

  • फोरेंसिक मेडिसिन और विष विज्ञान
  • पैथोलॉजी ऑफ माइक्रोबायोलॉजी
  • होम्योपैथिक मटेरिया मेडिका
  • प्रसूति एवं स्त्री रोग शिशु देखभाल
  • ईएनटी, नेत्र, दंत चिकित्सा, और होम्यो चिकित्सा सहित सर्जरी

BHMS Course Third Year Syllabus –

  • ईएनटी, नेत्र, दंत चिकित्सा, और होम्यो चिकित्सा सहित सर्जरी
  • चिकित्सा का अंग
  • चिकित्सा और होमियो चिकित्सीय का अभ्यास
  • प्रसूति और स्त्री रोग शिशु देखभाल और होमियो। चिकित्साविधान
  • होम्योपैथिक मटेरिया मेडिका

BHMS Course 4th Year Syllabus –

  • चिकित्सा और होमियो चिकित्सीय का अभ्यास
  • होम्योपैथिक मटेरिया मेडिका
  • प्रदर्शनों की सूची
  • चिकित्सा का अंग
  • सामुदायिक चिकित्सा

BHMS Course में Admission कैसे प्राप्त करें –

दोस्तो जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया है कि इस Course में दाखिला लेने के लिए आपको सबसे पहले 12वीं को Science Stream के साथ कम से कम से 50 से 55% अंको से उत्तीर्ण होना अनिवार्य है। इसके बाद ही आप इसके लिए State और University Level पर करवाए जाने वाले Entrance Examination NEET और अन्य Entrance Paper के लिए Form भर सकते हैं। दोस्तो इस Course में आपका Selection Entrance Paper को Pass करने के साथ ही Entrance Exam में आए Percentage के हिसाब से ही होगा और कुछ Colleges ऐसे भी है जो इस BHMS Course में Merit Basis पर भी Admission लेते हैं। BHMS के Entrance Examination में General Category के Students का 50% और OBC/ ST/ SC Category के Students को 40% Marks से Pass होना अनिवार्य है इसके बाद ही आपको इस Course में Admission प्राप्त होगा।

Also Read:

BHMS Course हेतु Entrance Examination –

इस Course में Admission लेने के लिए आपको State Level और University Level पर Entrance Exam को Organized करवाए जाते हैं जो इस प्रकार हैं

1. NEET (National Eligibility Cum Entrance Test)
2. BVP CET (Bharati Vidyapeeth Common Entrance Test Under Graduate)
3. EAMCET (Engineering Agricultural And Medical Common Entrance Test)

NEET

इस Paper को National Level पर करवाया जाता है। इसका पूरा नाम National Eligibility cum Entrance Test है। इस Exam को Medical Sector मे Admission लेने के लिए कराया जाता है। इस NEET Exam को MBBS, BDS, आदि Course में Admission लेने के लिए आयोजित किया जाता है। यह Offline Mode मे होने वाला एग्जाम होता है जिसे NTA National test Agency के द्वारा संचालित कराया जाता है।

BVPCET

इसका पुरा नाम Bharati Vidyapeeth Common Entrance Test Under Graduate है। इस परीक्षा को भारतीय विद्यापीठ यूनिवर्सिटी के द्वारा संचालित किया जाता है। इस Exam को Medical Engineering और Management इत्यादि Course में Admission लेने के लिए कराया जाता है यह यूनिवर्सिटी महाराष्ट्र के पुणे में स्थित है।

EAMCET

यह परीक्षा Online Mode पर कराई जाती है। इसका पुरा नाम Engineering Agricultural And Medical Common Entrance Test है। जिसे तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के कॉलेजों में कराया जाता है। यह परीक्षा State Level पर Agriculture, Medical, Engineering Course मैं एडमिशन लेने के लिए कराया जाता है।

BHMS Course के क्षेत्र मे Career Scope

जैसे ही आप अपना BHMS Course Complete करते है, BHMS Course पूरा करने के बाद आप Government और Private संस्थानों मे High Level के Post पर कार्य करने की Opportunity को प्राप्त कर सकते है। दोस्तो Medical Sector की सबसे अच्छी बात यह है कि यहां आपध केवल भारत बल्कि भारत के अलावा भी अन्य बाहरी देशो मे Job Opportunities प्राप्त कर सकते है। जो कि निम्नलिखित Post पर हो सकता है।

  • Scientist
  • Homeopathic Doctor
  • Pharmacist
  • Homeopathic Professor/Lecturer
  • Medical Consultant
  • Public Health Specialist
  • Hospital Manager
  • Researcher
  • Medical Assistant
  • Doctor

BHMS Course करने के बाद किन किन क्षेत्रों में आवेदन कर सकते हैं। –

BHMS Course करने के बाद आप बहुत सारे Government और Private Sectors मे Job हेतु Apply कर सकते है। जो कि निम्नलिखित है।

  • Government Homeopathic Dispensaries & Hospitals
  • Private Hospitals
  • Government Medical Collages & Homeopathy Institutes
  • Private Medical Collages
  • Research Laboratories
  • Pharma Industry
  • Consultancies
  • Healthcare Center
  • Homoeopathic Medicine Store
  • Drugs Manufacturing Companies

BHMS Course हेतु भारत के Top Colleges –

  1. Guru Ravidas Ayurveda University
  2. Baba Farid University of Health Sciences, Punjab
  3. Dr DY Patil Vidyapeeth, Pune
  4. University of Kerala
  5. Guru Gobind Singh Indraprastha University, Delhi
  6. Mahatma Gandhi University, Kerala
  7. Lokmanya Homeopathic Medical College, Pune
  8. National Institute of Homoeopathy, Kolkata
  9. Bharati Vidyapeeth University, Pune
  10. Bakson Homoeopathic Medical College & Hospital, Uttar Pradesh
  11. Dr B. R. Sur Homoeopathic Medical College Hospital and Research Centre, New Delhi

दोस्तों आज की Post में हमने आपको जानकारी दी BHMS Course क्या है BHMS Full Form और आप इस क्षेत्र मे अपना Career कैसे बना सकते है। मै आशा करती हु की आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई होगी और आपको BHMS Course से जुड़े सारे सवालों के जवाब भी मिल गए होगे। आपको हमारा ये Post कैसा लगा हमे जरुर बताएं। साथ ही अगर आपके पास इस विषय से जुड़ी कोई सवाल या जिज्ञासा है तो आप तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते है। ऐसे ही और जानकारी वाले लेख पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट से जुड़े रहिये।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here