Web Server क्या है? Web Server के प्रकार जानिए हिंदी में..??

web server kya hai

दोस्तों, आज का युग एक आधुनिक युग है, जिसमें Computer Science नित नए किर्तिमान हासिल कर रहा है। आज से कई वर्ष पुर्व Computer का अविष्कार हुआ, जिस पर हम अपना सामान्य कार्य जैसे Data एवं Word Processing आदि का कार्य कर सकते थे। इसके बाद धीरे-धीरे Network Technology का Development हुआ। अब आज के समय में इस Network के साथ-साथ एक और शब्द जुड़ गया है, वह है Web Server, (Web Server Kya Hai?) का दुनिया भर में हर रोज लगभग करोड़ों Website Access की जाती है। हम सब हर रोज ही अपने अंदर की जिज्ञासा या फिर किसी विषय को जानने समझने के लिए Google या अन्य Searching Sites का प्रयोग करते है। हम जिस भी विषय से संबंधित Search करते है, Google हमे उससे संबंधित सारी Information उपलब्ध करवा देता है। आम Internet User के द्वारा भी हर रोज ही Facebook, Twitter, Google जैसी Website को Open करता है और यह सभी Websites Web Server पर ही Host होती है। दोस्तों आज के इस Post में हम आपको Web Server से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारियों जैसे कि Web Server Kya Hai, कैसे काम करता है और कितने प्रकार के होते है आदि के बारे में बताने वाले है। तो चलिए दोस्तों शुरू करते है।

Web Server Kya Hai?

दोस्तों Web Server एक तरह का Computer Program होता है। जिस पर हम Web Browser में किसी भी Page को चलाते हैं। Web Server का मुख्यत कार्य किसी भी Users के Web Pages को संरक्षित करने के साथ ही सभी Web Pages को चलाने में मदद करना होता है। इसकी सभी महत्वपूर्ण जानकारियों को एक स्थान से दूसरे स्थान पहुंचाने के कार्य HTTP के अंतर्गत आता है। जो भी Server XML Document को एक उपकरण से दूसरे उपकरण तक पहुंचाता है उसे हम Web Server बोलते हैं। ये तो हम सभी जानते है कि जितने भी Web Pages उन सभी में अधिकतर जितनी भी जानकारियां होती है। जैसे की HTML Document Images आदि वह सभी स्थायी जानकारी होती है। HTTP के अलावा Web Server यानि कि SMTP Simple Mail Transfer Protocol से Mail भेजने और FTP यानि की File Transfer Protocol से File भेजने के काम मे आता है।

web server kya hai
web server

Web Server के कार्य

जैसा कि हमने ऊपर आपको बताया कि Web Server का मुख्य काम Website पर उपलब्ध सभी जानकारियों को दिखाना है। कोई ऐसा Web Server जो लोगों के उपयोग के इस्तेमाल के लिए नही है। और कही न कही आंतरिक तौर पर उसका इस्तेमाल किया जा रहा है तो ऐसे Server को हम Intranet Server बोलते है। ये तो हम सभी जानते है कि हर Website का अपना एक अलग IP Address होता है। हमारे द्वारा जब भी किसी Website को खोलने के लिए Address Bar में कोई भी URL या वेब Web Address को डाला जाता है। और Browser इसको Web Page की मदद से दर्शाता है। फिर DNS यानि की Domain Name Server इस URL को IP Address मे परिवर्तित कर देता है। हर Website का अपना एक अलग IP Address होता है। इस तरह के Internet Protocol कई तरह के Servers के बीच Contect करने के काम मे आते हैं। इसी कड़ी में Market में आजकल Apache Server काफी इस्तेमाल में आ रहे है। Apache एक Open Source Software है। जो की आजकल के समय में 70% Website को चलाने का काम करता है। इसी तरह Microsoft Company के द्वारा बनाया गया IIS भी एक Web Server है जो की आसानी से Market में Available है।

Web Server के प्रकार

दोस्तों वैसे तो हम कई तरह के Web Server उपलब्ध है। मगर उन सब मे से मुख्यत चार Web Server ही हमारे द्वारा इस्तेमाल किए जाते है।

1. Apache Web Server
2. IIS Web Server
3. NGINX Web Server
4. Light Speed Web Server

Apache Web Server

पूरे विश्व में सबसे लोकप्रिय Web Server में से एक है। इसका निर्माण Apache Software Foundation ने किया है। Apache एक Open Source Software है जो की लगभग सभी Operating System में काम करता है। जैसे की Linux, Unix, Windows, और MAC आदि। लगभग 60% प्रतिशत Machine Apache Web Server पर ही काम करती है। इस Web Server मे आप कुछ भी जोड़ सकते है और अपने हिसाब से इसे परिवर्तित कर सकते है। जिससे हमे सबसे ज्यादा फायदा इस बात का होता है की हम इसमे नए Module को Add कर अपने हिसाब से बदलाव कर सकते है और इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। यह बाकी सभी Web Server से ज्यादा स्थिर है और अधिक कार्य करने में भी सक्षम है। समय समय पर इसके Updates भी आते रहते है, जिससे की इसमे नित नए नए Options आते रहते हैं।

IIS Web Server

यह Microsoft Company का ख़ुद का Product है। इसमे भी Apache के समान ही Options Available है। मगर यह Apache की भांति एक Open Source Software नही है और ना ही इसमे अपने Module Add करने की Facility उपलब्ध है। इसमे आप अपने हिसाब से किसी भी तरह का कोई बदलाव भी नहीं कर सकते क्योंकि यह करना इसमे काफी मुश्किल होता है। चूंकि यह Microsoft Company की खुद का Production है इसलिए यह सारे Windows Operating System पर काम करता है। इसके साथ ही यह एक बेहतर Customer Care Service भी Provide करवाता है, जिससे की हमें जब कभी भी कोई परेशानी हो हम उसका इस्तेमाल कर आसानी से समस्या का समाधान कर सकते है।

NGINX Web Server

यह Web Browser Threads का इस्तेमाल नहीं करता। यह पुरी दुनिया में 7.5 % प्रतिशत तक Domain पर Web Hosting का काम कर यह आज के समय में धीरे धीरे काफी लोकप्रिय होता जा रहा है। यह ज़्यादातर Web Hosting Company ही इसको इस्तेमाल कर रही है।

Light Speed Web Server

अगर आप अपने Web Server को Light Speed Web Server में Upgrade करते हैं। तो इसका इस्तेमाल करने से आपके Web Server की काम करने की क्षमता और भी बढ़ जाती है। यह भी Apache की तरह ज़्यादातर Options पर आसानी से काम करता है।

Web Server और Application Server मे अतंर

दोस्तों बहुत लोग Web Serverऔर Application को एक ही मानते है तो आपकी जानकारी के लिए बताना चाहुंगी कि Web Server और Application Server दोनों ही अलग-अलग होता है। और इन दोनों में यानि कि Web Server और Application बहुत अंतर भी होते हैं जो कि निम्नलिखित है।

Web Server और Application Server

1. Web Server का प्रयोग सबसे पहले सन् 1989 मे किया गया था जबकि Application Server का प्रयोग सन् 1990s ई. मे किया गया था।

2. Web Server जहां पर केवल HTTP, HTTPS और Protocols को ही Support करता है। वही Application Server केवल HTTP और HTTPS के साथ ही IIOP, RMI Protocols को भी Support करता है।

3. Web Server छोटे तथा मध्यम आकार वाले ही Web Application के लिए उपयुक्त है। Application Server का प्रयोग ज्यादातर बड़े पैमाने मे किया जाता है।

4. Web Server को JEE Modules के Servlet, JSP Technology के आधार पर Devlop किया गया है। वही Application Server को Servlet, JSP, EJB, JTA, और Java Mail Technology के आधार पर Develop किया गया है।

5. Web Server के अंतर्गत केवल Servlet Container तथा JSP Container का ही प्रयोग करते है। जबकि Application Server Servlet Container, JSP Container, तथा EJB Container, का भी प्रयोग करता है।

6. Web Server केवल War Extensions वाली Files को ही Files करता है। जबकि Application Server .war तथा .ear दोनों Files को Files कर सकता है।

ये भी जरूर पढ़े:

ICS Full FormDAC Full FormVPA Full Form
UPI Full FormRTGS Full FormNEFT Full Form

दोस्तों आज की Post में हमने आपको जानकारी दी Web Server kya hai और Web Server के प्रकार के बारे में जानिए हिंदी में , आपको हमारा ये Post कैसा लगा हमे जरुर बताएं। साथ ही अगर आपके पास इस विषय से जुड़ी कोई सवाल या जिज्ञासा है तो आप वो भी हमें बता सकते हैं।