RTI क्या है? RTI के लिए आवेदन कैसे करे?

rti full form in hindi

दोस्तों हमारे देश के हर एक नागरिक को हर प्रकार की सूचना प्राप्त करने का अधिकार है लेकिन कुछ समय पहले तक किसी भी नागरिक को इन सब बातों की जानकारी नहीं थी। लेकिन अब कोई भी व्यक्ति सरकार से हर एक प्रकार की सूचना प्राप्त कर सकता है। जी हां यहां हम बात कर रहे है RTI Act के बारे मे जहां आप किसी भी सरकारी विभाग से संबंधित जवाब प्राप्त कर सकते हैं। तो आज आपको बताएंगे की कि आखिर ये RTI क्या है, RTI Full Form In Hindi क्या है, इसके फायदे क्या है, इसको लागू कब किया गया, इन सारे सवालों का जवाब हमारे इस लेख के जरिए आपको प्राप्त होगा।

देश में बढ़ते भ्रष्टाचार के खिलाफ RTI एक कदम है जिसके तहत भ्रष्ट सरकारी कर्मियों को दंडित किया जाता है। इसके तहत छात्र अपने सरकारी Job के Exam के Result के बारे में भी पता कर सकते हैं, सिर्फ इसके लिए उन्हें संबंधित विभाग से RTI File करना होगा। दोस्तों ये तो हम सभी जानते है कि हमारा भारत देश एक लोकतांत्रिक देश है और यहां नागरिकों द्वारा चयनित व्यक्ति को ही शासन करने की स्वतंत्रता प्राप्त है। यही कारण है कि आम नागरिक हमेशा यही आशा करते हैं कि उनके सरकार द्वारा कोई भी भ्रष्ट कार्य न हो तथा वह ईमानदारी से अपने कर्तव्यों का पालन करें।

भारत का प्रत्येक नागरिक सरकार को Tax देता है, जिसको हमारे देश के विकास से संबंधित कार्यों में लगाया जाता है तो जनता को इसका पूरा अधिकार है कि वह इन बातों की जानकारी सरकारी विभाग से प्राप्त करें। इसलिए ही इस सूचना के अधिकार अधिनियम को बनाया गया है। दोस्तों आज के इस Post मे हम आपको RTI से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी के बारे मे विस्तारपूर्वक जानकारी देने वाले है। सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे आज के इस Post को अंत तक जरूर पढ़े। तो चलिए शुरू करते है।

RTI Full Form In Hindi

RTI क्या है इसके बारे में जानने से पहले हमें ये जरूर पता होना चाहिए की RTI की Full Form क्या है। RTI की Full Form “Rights To Information” है और RTI Full Form In Hindi “सूचना का अधिकार” है। चलिए अब जानते है की आखिरखार ये RTI है क्या और हम इस से किस प्रकार लाभ उठा सकते है।

RTI क्या है?

RTI यानी कि Right To Information सूचना का अधिकार, सूचना के अधिकार से अभिप्राय सूचना पाने का अधिकार अर्थात जो सूचना अधिकार कानून बनाने वाले राष्ट्र अपने देश के नागरिकों को देता है। यह सूचना का अधिकार अधिनियम भ्रष्टाचार के खिलाफ एक बहुत ही बड़ा कदम उठाया है तथा इसके आने से भ्रष्टाचार पर भी बहुत लगाम लग चुका है। RTI के अंतर्गत कोई भी भारत का नागरिक किसी भी सरकारी विभाग से जो भी जानकारी लेना चाहता है वह मांग सकता है लेकिन शर्त यह है कि जो भी जानकारी लेनी हो वह सही तथ्यों पर आधारित होनी चाहिए। इसके अंतर्गत जिस भी विभाग से जानकारी मांगी जा रही है उसको 30 दिन के अंदर-अंदर ही जानकारी देनी होती है।

RTI के अंतर्गत आप अपने क्षेत्र के विकास के कार्य में लगे खर्चे, स्कूल, कॉलेज और अस्पतालों में खर्च हुए पैसे सरकारी राशन में आए राशन की जानकारी लेना इत्यादि से संबंधित सभी जानकारी को इस RTI के तहत पता कर सकते है। देश में लगातार बढ़ रहे भ्रष्टाचार के मामलों के देखते हुए ही उसके खिलाफ ही इस अधिनियम को लागू किया गया है। श्री मनमोहन सरकार के द्वारा सन् 2005 ई. में इस अधिनियम को लाया गया है। जिसकी सहायता से आप सरकारी विभाग से कोई भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं लेकिन आप सरकार से संबंधित उसकी सुरक्षा एवं गोपनीय बातों की जानकारी नहीं प्राप्त कर सकते है। इसके अंतर्गत सिर्फ सही तथ्यों की जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

KYC क्या है? यह क्यों जरूरी है

RTI Act का इतिहास

भारत में इस अधिनियम को 15 जून 2005 में अधिनियमित किया गया और 12 अक्टूबर 2005 को इसे सारे नियम और शर्तों के साथ लागू किया गया। इसके अंतर्गत भारत का कोई भी नागरिक अपनी कोई भी जानकारी सरकारी कार्य से संबंधित किसी भी गैर सरकारी व सरकारी विभाग से प्राप्त कर सकता है। भ्रष्टाचार को रोकने के लिए व नागरिकों को सरकारी विभागों से संबंधित सारी जानकारी रहे इसलिए इस Act को लाया गया। इसे भारत के संसद द्वारा पारित किया गया है और यह Act सबसे पहले Sweden ने अपने देश में लागू किया था। वर्तमान समय में यह अधिनियम 80 देशों में लागू है जहां के नागरिकों को सरकारी विभाग संबंधित सारी जानकारी लेने का हक है।

RTI का मुख्य उद्देश्य

दोस्तों सरकार द्वारा बनाए गए हर एक नियम कायदे कानून का अपना एक मुख्य उद्देश्य होता है। इसी तरह सूचना का अधिकार अधिनियम का भी अपना एक मुख्य उद्देश्य है। सरकार अपने और आम नागरिकों के मध्य पार्दर्शिता के साथ सभी कार्य को करना चाहती है। इसके साथ ही देश को भ्रष्टाचार से मुक्त कराना तथा देश के नागरिकों को सशक्त बनाना, देश में हो रहे कार्यों, गतिविधियों को नागरिकों के सामने पारदर्शी रूप से लाना सदा सरकार द्वारा जवाबदेही को RTI अधिनियम में प्रमुखता दी जाती है।

RTI Act के फायदे

  • इस Act के अंतर्गत भ्रष्टाचार से संबंधित सारी शिकायतें की जा सकते हैं और साथ ही साथ भ्रष्टाचार से लोगों को बचाया जा सकता है।
  • इस Act के जरिए छात्र अपने परीक्षाओं से संबंधित सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं तथा PF Funds , Passport , Income Tax से जुड़े मामलों की जानकारी भी प्राप्त की जा सकती है।
  • किसी भी घटना के होने तथा उनसे संबंधित जानकारी इस अधिनियम के माध्यम से प्राप्त किया जा सकता है।
  • अपने इलाके में चल रहे विकास के कार्य में कितने खर्च हुए पैसों के साथ और भी संबंधित जानकारी प्राप्त की जा सकती है ।

RTI के मुख्य धाराएं

  • दोस्तों RTI के अंतर्गत कुछ मुख्य धाराएं भी हैं जिनके बारे मे जानना हमारे लिए बहुत जरूरी है। और तभी हम RTI Act का अच्छे से प्रयोग कर पाएंगे।
  • धारा 6(1)- धारा 6(1)के अंतर्गत भारत देश के सभी नागरिको को RTI लिखने का अधिकार प्राप्त है।
  • धारा 6(3)- इस धारा के अंतर्गत अगर RTI लिखा गया आवेदन किसी गलत विभाग में चला जाए तो यह उस विभाग की जिम्मेवारी बनती है की वह उस आवेदन को सही विभाग के पास पहुचायें और वो भी सिर्फ 5 दिनों के अंदर।
  • धारा 7(5) – इस धारा के अंतर्गत जो हमारे भारत जो नागरिक BPL Card Holder है उनको आवेदन करने के लिए कोई भी आवेदन शुल्क नहीं देना होता है और जिसके पास BPL Card नहीं होता है उनको आवेदन के लिए शुल्क भुगतान करना होता है।
  • धारा 18 – धारा 18 के अंतर्गत अगर कोई भी जानकारी विभाग द्वारा नहीं दी जाती है तो उससे संबंधित विभाग की शिकायत की जा सकती है।
  • धारा 19 (3)-इस धारा के अंतर्गत अगर पहली RTI का पत्र का कोई जवाब नहीं प्राप्त होता तो 90 दिनों के भीतर ही दूसरी अपील भी की जा सकती है।

RTI के अंतर्गत किन जानकारियों को प्राप्त कर सकते है।


इस अधिनियम के अंतर्गत भारत का कोई भी नागरिक सरकारी योजनाओं से संबंधित कोई भी जानकारी प्राप्त कर सकता है। इसके अंतर्गत हम किन किन जानकारी को प्राप्त कर सकते हैं हम यहां आपको बताते हैं। यह कुछ इस प्रकार हैं –

1.इस अधिनियम के अंतर्गत हम किसी भी विशेष व्यक्ति के निजी जानकारी नहीं ले सकते हैं।

2.RTI के अंतर्गत भारत देश के सभी विभाग आते हैं इसमें बैंक, कृषि विभाग ,बिजली विभाग, प्रधानमंत्री ,मुख्यमंत्री, राष्ट्रपति सब इस RTI के अंतर्गत आते हैं ।

3. इसके अंतर्गत भारत का कोई भी नागरिक गैर सरकारी स्कूल (NGO) और सरकारी विभाग से सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त कर सकता है ।

4. इसके अंतर्गत कोई भी व्यक्ति अपने इलाके के कॉलेज, अस्पताल, राशन की दुकान, सरकारी समितियों इत्यादि से विस्तारित रूप की जानकारी ले सकता है।
लेकिन आप किसी भी गोपनीय व सरकार की सुरक्षा की कोई भी जानकारी नही प्राप्त कर सकते है।

RTI के लिए आवेदन कैसे करे?

दोस्तों RTI यानि की Right To Information के लिए आप दो तरह से Apply कर सकते है, यानि की Online तथा Offline दोनों तरह से Apply कर सकते है।

1. Apply Online For RTI: आइए दोस्तों सबसे पहले हम आपको बताते है कि आप RTI के लिए Online Apply कैसे कर सकते है। RTI के लिए Online Apply करने हेतु नीचे दिए गए Steps को Follow करे।

Step 1: इसके लिए भारत सरकार के Official Website: https://rtionline.gov.in/ पर जाकर Apply किया जा सकता है। इसके लिए सबसे पहले आपको इसके Official Website Open करके उसमे Login करना होगा।

rti kya hai

Step 2: उसके बाद RTI के Option पर Click करके Online Apply Form को भरना होगा।

rti form kaise bhare

Step 3: Form को Fill करने के बाद Submit के Button पर Click करना होगा।

rti full form in hindi

Step 4: इसके बाद आपको RTI के लिए ली जाने वाली Fees को जमा कर देना है।

2. Offline Apply: दोस्तों अब हम बात करते है कि आप इसे Offline Apply कैसे करे।

  • Step1: इसके लिए आपको सबसे पहले RTI के Official Website पर जाकर RTI Form Download करना होगा।
  • Step2: Form Download करने के बाद आपको स्वयं RTI Apply करने हेतु आवेदन पत्र लिखना होगा।
  • Step3: इसके बाद उस लिखे हुए आवेदन पत्र को Postal Order के जरिए उससे संबंधित विभाग में भेज सकते है। जिसमें विभाग से जानकारी लेनी हो फिर इसके बाद आपको RTI आवेदन का जवाब 30 दिन के अंदर ही प्राप्त हो जाएगा।

RTI कैसे लिखें?

अगर आपको रति के लिए आवेदन लिखना नहीं आता तो हम निचे एक नमूना दे रहे है जिसका इस्तेमाल करके आप आसानी से RTI फाइल कर सकते है। याद रखना आवेदन करने के लिए आपको 20 रूपये फीस देनी पड़ती है और अगर आपको उसकी कॉपी चाहिए तो उसके लिए 2 रूपये अतिरिक्त शुल्क देय है।

RTI Full Form In Hindi

RTI को किन किन भाषाओं का प्रयोग किया जा सकता है?

दोस्तों RTI File करने से पहले आपका ये जानना भी बहुत जरूरी है कि आप इसके अंतर्गत किन किन भाषाओं में आवेदन कर सकते है। इसके लिए English, Hindi, के अलावा किसी भी अन्य Local Language मे आवेदन किया जा सकता है। आप कोई भी जानकारी किसी भी भाषा में में प्राप्त कर सकते है।

RTI Act से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियां

दोस्तों अब हम आपको RTI से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण जानकारियों के बारे मे बताएंगे जिसके बारे मे आप सभी को जानना बहुत आवश्यक है।

1. इसके अंतर्गत यदि आप केंद्रीय सूचना आयोग से कोई भी सूचना मांग रहे हैं और वहां से कोई भी सूचना नहीं दी जा रही है तो उस विभाग की शिकायत करके विभाग अधिकारियों पर दंड का प्रावधान भी है।
2. 30 दिन के अंदर भेजी गई RTI Fine कि यदि कोई सूचना प्राप्त नहीं होती है तो प्रथम अपीलीय अधिकारी से अपील की जा सकती है ।
3. यदि किसी केस में आपको जवाब मिलने पर भी संतुष्टि नहीं हो तो आप 30 दिनों के अंदर-अंदर केंद्रीय सूचना आयोग Central Information Commission में दूसरी RTI फाइल कर सकते हैं ।
4. किसी भी सरकारी विभाग का कर्तव्य है कि मांगी गई जानकारी को 30 दिन के अंदर-अंदर उपलब्ध कराए और स्वतंत्रता से संबंधित मामलों में 48 घंटे में जानकारी दें।

ये भी जरूर पढ़े:

Conclusion: इस प्रकार RTI से संबंधित सारी जानकारी के साथ हम भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठा सकते हैं तथा सरकारी कार्य पर भी अपनी नजर बनाए रख सकते है। आज की Post में हमने आपको जानकारी दी RTI और RTI Full Form In Hindi क्या है, RTI के लिए आवेदन कैसे करे और रति से सम्बंधित और कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां। मैं आशा करती हूँ की आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी जरूर पसंद आयी होगी। आपको हमारा ये Post कैसा लगा हमे जरुर बताएं। साथ ही अगर आपके पास इस विषय से जुड़ी कोई सवाल या जिज्ञासा है तो आप वो भी हमें बता सकते हैं।