LED क्या है? LED कैसे कार्य करता है? जानिये हिंदी में

0
41
led full form in hindi

LED के बारे में तो लगभग सभी लोगों को पता होगा। आजकल हर घर में LED लाइट और LED TV का इस्तेमाल किया जाता है। लोगों द्वारा LED का इस्तेमाल इसलिए किया जाता है क्योंकि वह इसकी गुणवत्ता को लेकर आश्वस्त है। हालांकि हम सभी LED का इस्तेमाल तो करते हैं लेकिन LED के बारे में हम ज्यादा जानकारी नहीं रखते। जैसे LED Full Form In Hindi क्या होता है? LED क्या होता है? इसके क्या फायदे हैं? और क्या नुकसान है? तथा यह किस तरह से कार्य करता है। इन सब चीजों के बारे में जानकारी होना जरूरी है। आपको जानकारी देने के लिए आज के इस लेख में हम आपको LED से जुड़ी सभी जानकारियों को बताएंगे, आइए जानते हैं।

LED Full Form In Hindi क्या है?

LED का English Full Form “Light Emitting Diode” होता है और अगर बात करें LED Full Form In Hindi तो वह “लाइट एमिटिंग डायोड” पढ़ा जाता है, इस प्रकार से इसका हिंदी में Full Form हुआ “प्रकाश उत्सर्जक डायोड”। अगर आप LED के बारे में और अधिक जानकरी चाहते है तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े।

LED क्या होता है?

LED को ‘अर्ध चालक डायोड’ कहा जाता है जिसका अंग्रेजी में अर्थ ‘Semi Conductor Diode’ होता है। यह एक ऐसा उपकरण होता है जिसमें जब विद्युत धारा प्रवाहित होती है तो यह प्रकाश उत्सर्जित करता है। हालांकि यह प्रकाश की बनावट के आधार पर अलग-अलग रंग की हो सकती है।

इस Semiconductor Diode में Semiconductor Material होता है। जब यह Device Light Emit करता है, तब Current या Electricity उससे Pass होती है जिससे इसके अंदर के Particles जो कि एक-दूसरे से जुड़े होते हैं, में Light Produce होती है।

वर्तमान समय में LED की लोकप्रियता से हर कोई वाकिफ है। आज बहुत बड़ी संख्या में लोग इसका इस्तेमाल कर रहे हैं। इसका इस्तेमाल मोबाइल फोन, एडवरटाइजिंग डिस्प्ले बोर्ड (Advertising Display Boards), विभिन्न प्रकार के उपकरणों, में किया जा रहा है। LED की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यह बहुत ही कम Power का उपयोग करता हैं। अभी तक हमने जाना की LED Full Form In Hindi क्या है? LED क्या है? अब हम जानेगे LED के इतिहास के बारे में और फिर बात करेंगे LED के क्या फायदे है और क्या नुकसान है।

LED Materials

जैसा हमें पता है की LED अलग-अलग रंग की होती है। क्या आपने सोचा है की इनको अलग अलग रंग की कैसे बनाया जाता है। दरअसल इनको बनाने में जिस Material का उपयोग किया जाता है वो इनको अलग अलग रंग देने में मदद करता है। आइये जानते है LED में कौन-कौन से Material का इस्तेमाल किया जाता है।

  • Gallium Phosphide (GaP) – Red, Green and Orange
  • Gallium Nitride (GaN) – Emerald Green, Green
  • Gallium arsenide (GaAs) – Infrared
  • Gallium arsenide phosphide (GaAsP) – Red To infrared, Orange
  • Aluminum Gallium Indium Phosphide (AlGaInP)  : Yellow, Orange and Red Hight Brightness
  • Aluminum gallium arsenide (AlGaAs) : Red, Infrared LEDs
  • Indium Gallium Nitride (InGaN) : Blue, Green and Ultraviolet High Brightness

LED कैसे कार्य करता है?

LED में जब Current Voltage Lead से होकर इसके अंदर जाता है, तो इलेक्ट्रॉन छिद्र (Electron Hole) आपस में जुड़ते हैं। इस पूरी प्रक्रिया के अंतर्गत ऊर्जा उत्पन्न होती है। यह ऊर्जा प्रोटॉन (Proton) के रूप में बाहर निकलती है। यह पूरी प्रक्रिया इलेक्ट्रॉल्यूमिनिसेंस (Electro luminous) के नाम से जानी जाती है।

LED का इतिहास क्या है?

LED के बारे में पहले जानकारी 1907 में मिली। इस दौरान एक ब्रिटिश वैज्ञानिक जिनका नाम एचजे राउंड था, ने Marconi प्रयोगशाला में इसे खोजा था। आगे जाकर 1920 में रूस में इसका आविष्कार किया गया। लेकिन 1961 में 2 वैज्ञानिक जिनका नाम Gary Pittman और Robert Biard ने आविष्कार किया और उन्होंने यह खोज निकाला है कि gallium Arsenide जब electrical Current के संपर्क में आता है तो यह infrared radiation emit करता है। इसी को आगे जाकर infrared LED के नाम से पेटेंट किया गया।

साल 1962 में visible Light LED का आविष्कार Nick Holonyak Jr. ने किया। इस आविष्कार के बाद से उन्हें “Father Of The Light Emitting Diode” कहा जाता है। आगे जाकर 1972 में Holonyak के विद्यार्थी M. George Craford ने Yellow LED को बनाया। इसके साथ ही उन्होंने Red और Orange LED की रोशनी को 10 गुना बढ़ाया।

इसके बाद से ही लगातार LED के आविष्कार किए गए। आविष्कारों के लिए कई वैज्ञानिकों को महत्वपूर्ण पुरस्कारों से भी नवाजा गया। दरअसल, साल 2014 में तीन वैज्ञानिकों Professor Isamu Akasaki, Hiroshi Amano और Shuji Nakamura Blue LED का आविष्कार किया जो कि कम ऊर्जा में रोशनी प्रदान करती है। इसके लिए इन तीनों को Nobel Prize से भी नवाज़ा गया।

LED के उपयोग क्या है?

  • LED का इस्तेमाल सजावटी प्रकाश के लिए किया जाता है।
  • इसके अलावा LED के जरिए विज्ञापन, बिलबोर्ड आदि के डिस्प्ले बोर्ड बनाए जाते हैं।
  • सड़कों पर लगने वाली लाल बत्ती संकेतक LED के बने होते हैं। इसके अलावा गाड़ियों में लगने वाली लाइट, घरों में जलने वाला बल्ब, टॉर्च यह सभी LED के ही बने होते हैं।

LED के क्या लाभ है?

  1. LED का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसके जरिए ऊर्जा की काफी ज्यादा बचत होती है।
  2. LED का Response Time बहुत कम होता है। इसका Response Time सिर्फ 10 Nanoseconds का होता है। क्योंकि इसे किसी भी तरह की Heating Time की जरूरत नहीं होती।
  3. LED छोटे आकार के भी होते हैं इसलिए इन्हें प्रिंटेड सर्किट बोर्ड (Printed Circuit Board) में लगाना आसान होता है। इसके साथ ही यह light weighted भी होते है।
  4. LED का जीवनकाल 20 साल से ज्यादा होता है।
  5. LED का जीवनकाल भी काफी लंबा होता है यह अन्य की तुलना में लंबे समय तक काम करता है जिस तरह कुछ फ्लोरोसेंट लैंप में मरकरी पाई जाती है उस तरह की विषैले रसायन LED में नहीं पाए जाते।
  6. LED लाइटिंग पर्यावरण के अनुकूल होती हैं। इनकी प्रकृति नॉनटॉक्सिक होती है यानी कि इनमें पारा, सीसा और कैडमियम नहीं होता जो कि पर्यावरण के लिए खतरनाक होता है इसके साथ ही इस तरह की लाइट का इस्तेमाल वातावरण में कार्बन उत्सर्जन को कम कर सकता है।
  7. इसके साथ ही LED को हम पुनःचक्रित कर सकते हैं तथा इसके पुनर्चक्रण में काफी कम Charges लगते हैं।

LED के Disadvantages

  • LED में यदि ज्यादा Voltage तथा Current का इस्तेमाल किया जाता है तो यह खराब हो जाते हैं। LED Full Form In Hindi “प्रकाश उत्सर्जक डायोड” है।
  • जैसे कि हमने बताया है कि LED लाइट का जीवनकाल काफी ज्यादा होता है। इसके साथ ही यह ज्यादा गुणवत्ता से भरपूर होता है। यदि आप भी LED लाइट का इस्तेमाल कर रहे हैं तो ध्यान रहे कि इसे ज्यादा गर्म तापमान में ना रखें क्योंकि इससे बल्ब भी गरम हो जाएगा वह जल्द ही खराब हो जाएगा।
  • Laser की तुलना में LED ज्यादा Wider Band Width की होती है।
  • इसके साथ ही LED की कीमत हाल के वर्षों में लगातार बढ़ रही है। यही वजह है कि LED लाइटें अन्य लाइटों के मुकाबले ज्यादा महंगी हो चुकी है।

ये भी जरूर पढ़े:

निष्कर्ष (Conclusions)

इस लेख के जरिए हमने आपको LED Full Form In Hindi? LED क्या होता है? LED के कितने प्रकार है? LED के क्या फायदे हैं? LED के क्या नुकसान हैं?, से संबंधित जानकारी देने का पूरा प्रयास किया है। हमें उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई होगी। अगर यह जानकारी आपको उपयोगी लगी है, तो इसे अपने मित्रों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले। अगर आपके मन में LED Full Form In Hindi को लेकर कोई अन्य सवाल है तो हमें Comment Section में बताएं। हम आपको जवाब देने का हर संभव प्रयास करेंगे।