HDFC क्या है? HDFC का Full Form, HDFC की पूरी जानकारी

0
67
hdfc ka full form

आप में से लगभग सभी के पास एक Bank Account जरूर होगा। आजकल लोग सभी तरह के लेनदेन के लिए बैंकों पर पूरी तरह से निर्भर है। आंकड़ों की मानें तो भारत में 31 करोड़ लोग बैंकिंग सेवाओं का फायदा उठाते हैं। भारत में निजी क्षेत्र के बैंकों की संख्या 27 है जिनमें से 21 बैंक राष्ट्रीयकृत है। इन्हीं बैंकों में से एक बैंक है HDFC Bank। क्या आपको जानकरी है की HDFC Ka Full Form क्या है और यह कौन-कौन सी सेवाएं प्रदान करता है।

इस बैंक की भारत में आर्थिक लेन-देन में काफी महत्वपूर्ण भूमिका है। ऐसे में बहुत सारे लोग हैं ऐसे हैं जो HDFC बैंक के बारे में जानकारी हासिल करना चाहते हैं इसीलिए इस पोस्ट के जरिए हम आपको बताएंगे कि HDFC Ka Full Form क्या होता है? HDFC बैंक क्या है? HDFC बैंक की स्थापना कब हुई? तथा HDFC से जुड़ी सभी जानकारियों के बारे में। तो चलिए शुरू करते हैं:-

HDFC Ka Full Form क्या है?

HDFC Full Form In English is “Housing Development Finance Corporation” और HDFC Ka Full Form“ आवास विकास वित्त निगम” होता है। HDFC भारत में एक Popular बैंक है इसलिए आपको इसके बारे में और अधिक जानना चाहिए इसलिए इस लेख को जरूर अंत तक पढ़े।

HDFC बैंक क्या है?

HDFC बैंक भारत के निजी क्षेत्र का एक बैंक जिसकी स्थापना 1994 में की गई थी। यह भारत के प्रमुख बैंकों में से एक माना जाता है। इस बैंक का मुख्यालय महाराष्ट्र (मुंबई) में स्थित है। HDFC बैंक को भारतीय रिजर्व बैंक के द्वारा Approved किया जा चुका है। वर्तमान में HDFC बैंक में 90,000 कर्मचारी कार्यरत हैं। इस बैंक ने 4800 शाखाएं खोल रखी है। इसके अलावा भारत के अलग-अलग क्षेत्रों में HDFC बैंक के करीब 12,000 ATM है।

hdfc ka full form
Image Credit-HDFC

HDFC बैंक लगातार प्रगति कर रहा है। इस बात का सूचक है कि जब इस बैंक की स्थापना हुई थी उसके 6 साल बाद यानी कि साल 2000 में इस बैंक ने टाइम्स बैंक को खरीद लिया। इसकी खरीद में HDFC नहीं 90 खरब रुपये की राशि खर्च की थी। इस खरीद के बाद से ही टाइम्स बैंक के सभी कार्य को HDFC बैंक में मर्ज कर दिया गया। इस विलय से HDFC बैंक को खुद को expand करने में मदद मिली।

इतना ही नहीं कुछ सालों बाद HDFC बैंक ने 2008 में सेंचुरीयन बैंक का भी अधिग्रहण कर लिया था।

HDFC बैंक की स्थापना कब हुई?

HDFC बैंक को एक पब्लिक लिमिटेड कंपनी के रूप में 17 अक्टूबर 1977 को स्थापित किया गया था। इस बैंक के जरिए 1980 में लोन लिंक्ड डिपॉजिट स्कीम (Linked Deposit Scheme)की शुरुआत की गई। 1981 में इसके द्वारा गैर-निवासी प्रमाण पत्र जमा योजना शुरू किया गया और 1985 में होम सेविंग प्लान की शुरुआत की गई। इसके अंतर्गत किसी भी व्यक्ति को हर साल 8.5% की दर से घर खरीदने के योग्य किया गया।

HDFC बैंक ने 1986 में APF (Advance Processing Facility) की शुरुआत की गई थी। इसके जरिए बिल्डर आवास खरीदने वाले व्यक्तियों को वित्त प्रदान करते थे।

सन 1989 में HDFC बैंक को जर्मनी के Krditanstalt Fur Wiederauflau का समर्थन मिला और इसके तहत HDFC बैंक के ज़रिए दो तरह के Loans की पेशकश की गई। इनका नाम HIL (Home Improvement Loans) और HEL (Home Extension Loans) था।

आगे जाकर 1994 में HDFC के जरिए बैंकिंग सेवाओं की पेशकश की गई। इस बैंक को RBI की मंजूरी के बाद 1994 में ही स्थापित किया गया था।

आगे जाकर सन 1999 में इनके द्वारा अपनी एक वेबसाइट Launch की गई जो कि www.hdfcindia.com थी। लेकिन आगे जाकर इस Website को बदलकर www.hdfc.com किया गया। वर्तमान समय में यही Website HDFC बैंक के सभी कार्यक्रमों का नियंत्रण करता है।

HDFC के मालिक का नाम क्या है?

HDFC के मालिक का नाम हसमुखभाई पारेख (Hasmukhbhai Parekh) है। यह गुजरात के सूरत से ताल्लुक रखते हैं। इनका जन्म 10 मार्च 1911 में हुआ था। 18 नवंबर 1994 में 83 साल की आयु में इनकी मृत्यु हो गई।

सितंबर 1994 में HDFC बैंक के प्रबंधक निदेशक के तौर पर आदित्य पुरी को नियुक्त किया गया जो अब भी इस पद पर कार्यरत है। आदित्य पूरे भारत के ऐसे प्रथम अध्यक्ष हैं जो कि इतने लंबे समय काल के दौरान इस पद पर कार्यरत रहे हैं।

HDFC बैंक की सेवाएं

HDFC बैंक अपने खाताधारकों को कई तरह की सेवाएं और सुविधाएं प्रदान करता है। आइए जानते हैं वह कौन सी सुविधाएं हैं:-

  • कार लोन
  • टू व्हीलर लोन
  • पर्सनल लोन
  • क्रेडिट कार्ड
  • लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी
  • रिटेल बैंकिंग
  • होलसेल बैंकिंग

HDFC बैंक प्रोजेक्ट AI (Artificial Intelligence) के जरिए अपनी कुछ चयनित शाखाओं में Robots तैनात करने वाला है। यह रोबोट यहां के खाताधारकों को स्क्रीन पर प्रदर्शित होने वाले पैसों की निकासी या जमा, डिमैट सेवाओं जैसे कई तरह के विकल्प प्रदर्शित करेगा।

HDFC बैंक अपने द्वारा प्रदान किए जाने वाले तरह-तरह के loans के लिए जाना जाता है। यही इस बैंक की प्रमुख विशेषता है।

HDFC बैंक के बारे में रोचक तथ्य

  • जैसा कि आप जानते हैं HDFC बैंक एक निजी क्षेत्र का बैंक है। इस बैंक के कई कार्यालय हैं जो भारत के विभिन्न क्षेत्रों में स्थित है। जानकारी के मुताबिक इसके करीब 427 कार्यालय भारत में मौजूद है।
  • इस बैंक के कार्यालयों के अलावा इसकी 5500 से ज्यादा शाखाएं हैं जो कि भारत के 2764 शहरों में मौजूद हैं।
  • HDFC बैंक के वर्तमान CEO का नाम आदित्य पूरी है।
  • HDFC बैंक ऐसा पहला बैंक की जिसने Visa के साथ साझेदारी कर International Debit Card Launch किया।
  • इस बैंक की सभी शाखाओं में कुल मिलाकर 1.7 लाख से ज्यादा कर्मचारी कार्य कर रहे हैं।
  • साल 2016 में पूंजीकरण के दौरान जो बैंक नंबर वन था वह HDFC- Housing Development Finance Corporation (HDFC Ka Full Form) बैंक था।
  • भारत में सबसे पहले मोबाइल बैंकिंग की सुविधा HDFC बैंक द्वारा ही प्रदान की गई थी।
  • HDFC के एटीएम मशीनों की संख्या 12,000 से ज्यादा है।
  • 2017 के आंकड़ों के मुताबिक HDFC बैंक के द्वारा 2,35,70,000 से ज्यादा डेबिट कार्ड तथा 12 मिलियन से ज्यादा क्रेडिट कार्ड इसके ग्राहकों को दिए जा चुके हैं।
  • HDFC बैंक के द्वारा कई सामाजिक कार्य भी किए गए। दरअसल, 6 दिसंबर 2013 में इस बैंक के जरिए 709 जगहों पर 1115 रक्तदान कैंप लगाए गए थे। इस मुहिम के जरिए 61,902 लोगों के जरिए रक्तदान किया गया था। इस मुहिम के जरिए ही HDFC बैंक गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज हो गया।

निष्कर्ष (Conclusions):

उम्मीद है इस Article के जरिए हमारे द्वारा बताई गई जानकारी आपको पसंद आई होगी। इससे Article के जरिए आपको यह पता चल चुका होगा कि HDFC Ka Full Form क्या है? HDFC के मालिक कौन है? HDFC बैंक क्या है? तथा इससे जुड़े अन्य जानकारियों के बारे में अगर आपको इस Article से संबंधित कोई अन्य सवाल जानना है तो हमें Comment section में बताएं। अगर इस Article से आपको लाभ मिला है तो इसे सोशल मीडिया Platforms में Share भी करें जिससे अन्य लोग भी इस महत्वपूर्ण जानकारी को जान सके।