DAC Full Form DAC क्या है जानिए हिंदी में…?

0
312
dac full form hindi

DAC Full Form: दोस्तों जैसा की हम जानते है की Computer के आने के बाद हमारे काम कितने आसान हो गए है। क्या आपने सोचा है की एक इंसान कंप्यटर से कैसे बातें कर पाता है मतलब की जो हम कंप्यूटर को Input देते है तो उनको कैसे समझकर हमको Output देता है। कंप्यूटर के अलावा भी बहुत सारे ऐसे Devices है जिनको हम कुछ Command (Input) देते है और वो उनको Execute करके कुछ ही सेकण्ड्स में हमे Output देते है। क्या आपने कभी इस बारे में सोचा है। क्या आप जानते है की DAC क्या है, DAC Full Form क्या है, DAC कैसे काम करता है? अगर आपको इन सवालो का जवाब नहीं पता है तो इस लेख को अंत तक पढ़े।

DAC Full Form

दोस्तों DAC का Full Form है Digital-to-Analog Converter, और हम हमेशा Digital-to-Analog Converter को DAC के नाम से जानते है।

DAC क्या है?

Digital-to-Analog Converter (DAC) एक ऐसा Device है जो Digital Data को Analog Signal में बदल देता है। दोस्तों जैसा की हम जानते है की Computer केवल Digital Data को ही समझ सकते है और हमे Output के रूप में भी Digital Data ही मिलता है। एक DAC की मदद से हम Digital Data or Sample Data को सटीक रूप से Analog Signal में फिर से संगठित कर सकते है।

उदाहरण के लिए, Microphone- एक ऑडियो सिग्नल उपकरण Analog Data को एकत्रित करके एक Digital Signal में परिवर्तित करता है। एक कंप्यूटर की मदद से हम इस Digital Data को संसोधित कर सकते है, इसमें कुछ अलग से Sound Effect डाल सकते है। अब DAC, Digital Sound Signal को Analog Signal में वापस convert करेगा जो कि Audio Output उपकरण जैसे स्पीकर उपयोग करेगा।

DAC Full Form
Digital-to-Analog Converter

DAC क्यों जरूरी है

दोस्तों किसी भी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण के लिए Digital Data और Analog Signal बहुत ही जरूरी है और डाटा को manipulate करते समय हमे DAC की जरूरत होती है। बिना DAC का इस्तेमाल किये कोई भी इलेक्ट्रिक उपकरण काम नहीं कर पायेगा। DAC की मदद से ही आज के समय में इतने एडवांस इलेक्ट्रिक उपकरण बन पाए है। चलिए DAC क्यों जरूरी है इसको हम आसानी से समझने के लिए एक उदाहरण लेते है। मान लो 2 व्यक्ति है जिनमे से एक केवल हिंदी जानता है और दूसरा केवल अंग्रेजी भाषा जानता है। जब वो दोनों आपस में Communication करेंगे तो कोई भी एक दूसरे की बात नहीं समझ पायेगा। दोनों के मध्य अच्छे से Communication करने के लिए एक Translator की जरूरत होगी जो उन दोनों को एक दूसरे की भाषा में Translate करके समझा सके। ठीक इसी तरह जब डिजिटल डाटा को एनालॉग डिवाइस से Communicate करना होता है तो DAC की जरूरत होती है।

DAC के उपयोग

DAC का उपयोग कई डिजिटल सिग्नल प्रोसेसिंगअनुप्रयोगों में किया जाता है जिनमे से कुछ महत्वपूर्ण अनुप्रयोगों के बारे में नीचे चर्चा की गई है।

  • DAC का उपयोग Audio Amplifier में किया जाता है जो माइक्रोकंट्रोलर कमांड के साथ DC Voltage लाभ को उत्पन्न करने के काम आता है।
  • वीडियो एनकोडर में DAC का इस्तेमाल होता है, Video Encoder प्रणाली एक Video Signal को संसाधित करने का काम करती है जिसमे Output स्तरों के अनुकूलन के साथ-साथ विभिन्न प्रारूपों के Analog Video Signal का उत्पादन होता है।
  • Electronics Display में DAC का इस्तेमाल होता है जो डिस्प्ले को ड्राइव करने के लिए Analog Output जैसे रेड, ग्रीन, ब्लू (RGB) सिग्नल देता है।
  • Digital Potentiometer में DAC का इस्तेमाल होता है।
  • Motor Control System के लिए भी DAC का उपयोग होता है जो voltage control Signals भेजने का काम करता है।

DAC की कमियां

DAC, Accurate Voltage का उत्पादन नहीं कर सकता यह कई Voltage चरणों का उत्पादन कर सकता है जैसा कि Binary Number अनुमति देते है। अगर सीधे शब्दों में बात करे तो यह Continues Voltage Value देने में असमर्थ है।

ICS Full Form || VPA Full Form || UPS Full Form

दोस्तों आज के इस लेख में हमने बात की DAC Full Form के बारे में, साथ में हमने ये भी जाना की DAC क्यों जरूरी है और इसके क्या-क्या उपयोग है। अगर आपको यह लेख पसंद आया तो अपने दोस्तों और सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे। अगर इसके बारे में आपके मन में कोई सवाल या जिगासा हो तो आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते है। धन्यवाद!